सूचना का अधिकार अधिनियम (आर टी आई)

अध्याय - III

निर्णयन प्रक्रिया में अपनाई जाने वाली कार्य विधियां पर्यवेक्षण एवं जवाबदेही के माध्यम (चैनल) सहित

कंपनी में निर्णयन प्रक्रिया में निम्नलिखित चैनल शामिल है: -

कंपनी में निर्णयन प्रक्रिया में निम्नलिखित चैनल शामिल है

कंपनी का समग्र प्रबंधन कंपनी के निदेशक बोर्ड पर है जो कंपनी के भीतर सर्वोच्च निर्णय लेने वाली संस्था है ।

निदेशक बोर्ड कंपनी के शेयर धारकों के प्रति जवाबदेह है जो कंपनी का परम प्राधिकारी है । चूंकि शेयर पूंजी का 84.5% भारत सरकार द्वारा धारित है, एनटीपीसी सरकारी कंपनी है इसलिए कंपनी का निदेशक बोर्ड भारत सरकार के प्रति भी जवाबदेह है ।

कंपनी अधिनियम, 1956 के प्रावधानों के अनुसार, कुछ मामलों में कंपनी के शेयरधारकों का आम बैठक में अनुमोदन लेना आवश्यक होता है । इसी प्रकार कंपनी के संगम अनुच्छेदों और लोक उद्यम विभाग के मार्ग निर्देशों के अनुसार कुछ मामलों में भारत के राष्ट्रपति का अनुमोदन लेना आवश्यक होता है ।

निदेशक बोर्ड की प्राथमिक भूमिका शेयर घारकों मूल्यों का संरक्षण एवं संवर्धन करने के लिए न्यासिता की है । निदेशक बोर्ड कंपनी के नीतिगत निर्देशों की जांच करता है, कारपोरेट निष्पादन की समीक्षा करता है, नीतिगत निर्णयों को प्राधिकृत एवं मॉनीटर करता है, विनियामक अनुपालन को सुनिश्चित करता है और शेयर धारकों के हितों के लिए सुरक्षा उपाय करता है । निदेशक बोर्ड यह भी सुनिश्चित करता है कि कंपनी का प्रबंधन ऐसी रीति से किया जाए कि वह स्टेक धारकों की आशाओं और सामाजिक आकांक्षाओं को पूरा कर सके ।

कंपनी का दैनिक प्रबंधन अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक को सौंपा गया है जिसकी सहायता के लिए कंपनी के कार्य निदेशक तथा अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी होते हैं ।

निदेशक बोर्ड ने विशिष्ट कार्यों एवं शक्तियों से संपन्न कई समितियां भी गठित की है ।

अपने कार्यों का प्रभावी निर्वहन करने के लिए निदेशक बोर्ड ने महत्वपूर्ण शक्तियां अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक को प्रत्यायोजित की है । अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक ने अपनी विशिष्ट शक्तियां कार्य निदेशकों/अधिकारियों को अपने द्वारा किए जाने वाले यथोचित नियंत्रणों के अधीन और ऐसी शर्तों के अधीन प्रत्यायोजित की है जो उस संबंधित निदेशक/अधिकारी को सौंपी गई जिम्मेदारियों के तत्काल, प्रभावी एवं दक्ष निर्वहन की आवश्यकता के अनुरूप है ।

अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक निदेशक बोर्ड के प्रति जवाबदेह है । कार्य निदेशक अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक के प्रति जवाबदेह है । अधिकारी संबंधित कार्य निदेशकों के प्रति जवाबदेह है ।