मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी की संवहनीयता रिपोर्ट जारी

21st मई, 2013

देश के सबसे बड़े विद्युत उत्पादन संस्थान एनटीपीसी लिमिटेड ने आज नई दिल्ली में अपनी संवहनीयता (सटेनिबिलीटी) रिपोर्ट ''पावरिंग विद केयर . . .'' जारी की। वर्ष 2011-12 की इस रिपोर्ट को एनटीपीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक डा. अरुप राय चौधरी ने निदेशक (वित्त) श्री ए. के. सिंघल, निदेशक (प्रचालन) श्री एन.एन. मिश्रा, निदेशक (तकनीकी) श्री ए. के. झा तथा निदेशक (मानव संसाधन) श्री यू. पी. पाणि की उपस्थिति में जारी किया। एनटीपीसी की ''उत्पादन में बढ़ोतरी, जी एच जी गहनता में अपचयन'' की स्थायी ऊर्जा विकास संकल्पना के साथ यह रिपोर्ट हरित माहौल को बनाए रखने, ऊर्जा, जल इत्यादि जैसे प्राकृतिक संसाधनों का संरक्षण करने तथा नैगम अधाशासन एवं सामाजिक उत्तरदायित्व के प्रति कंपनी की प्रतिबद्धता की दिशा में एक और कदम है।

यह एक स्व-घोषित बी+रिपोर्ट है तथा वैश्विक रिपोर्टिंग पहल (जी आर आई) जी 3.0 के दिशानिर्देशों के अनुरूप है। रिपोर्ट को आश्वासन प्रदायक मैसर्स डी. एन. वी. ए. एस. द्वारा आष्वासन मानक एए 1000 के अनुसार बाह्य रूप से आश्वासित किया गया है। विद्युत क्षेत्र में प्रमुख चुनौतियां तथा अवसर, इन चुनौतियों का सामना करने में एनटीपीसी की सक्षमताएं तथा कार्यनीतियां, इस रिपोर्ट का एक हिस्सा हैं। इस रिपोर्ट में आर्थिक, पर्यावरण तथा सामाजिक निष्पादन संकेतकों के तहत अन्य पहलुओं को भी शामिल किया गया है।

सोलह कोयला आधारित 2 सौर नवीकरणीय, 7 गैस/तरल ईंधन तथा 7 संयुक्त उद्यम विद्युत संयंत्रो के माध्यम से एनटीपीसी की संस्थापित क्षमता 41,184 मेगावाट की है। एनटीपीसी ने वर्ष 2011-12 में 2820 मेगावाट के अपने पूर्ववर्ती क्षमता वृद्धि के स्तर को पार करते हुए वर्ष 2012-13 के दौरान 4170 मेगावाट का रिकार्ड क्षमता वृद्धि की है।

Sustainability Report

शीर्षक : देश के सबसे बड़े विद्युत उत्पादन संस्थान एनटीपीसी लिमिटेड ने आज नई दिल्ली में अपनी संवहनीयता (सटेनिबिलीटी) रिपोर्ट ''पावरिंग विद केयर . . .'' जारी की। वर्ष 2011-12 की इस रिपोर्ट को एनटीपीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक डा. अरुप राय चौधरी ने निदेशक (वित्त) श्री ए. के. सिंघल, निदेशक (प्रचालन) श्री एन.एन. मिश्रा, निदेशक (तकनीकी) श्री ए. के. झा तथा निदेशक (मानव संसाधन) श्री यू. पी. पाणि की उपस्थिति में जारी किया।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति