मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

श्री सुशीलकुमार शिंदे द्वारा एनटीपीसी - दादरी की 490 मेगावॉट इकाई की कमिशनिंग के बाद एनटीपीसी की कुल संस्थापित क्षमता 32194 मेगावॉट

30th जुलाई, 2010

आज दादरी परियोजना 490 मेगावॉट यूनिट VI की कमिशनिंग करते हुए श्री सुशीलकुमार शिंदे ने कहा कि एनटीपीसी ग्रिड में निरंतर क्षमता-वर्धन कर रही है और सभी के लिए विद्युत पूर्ति के राष्ट्रीय उद्देश्य में योगदान कर रही है। इससे एनटीपीसी ने क्षमता वर्धन में 32000 मेगावॉट का लक्ष्य पार कर लिया है। इस उपलब्धि तथा राष्ट्रीय गर्व के आयोजन, राष्ट्र मंडल खेलों को समय रहते बिजली प्रदान करने के लिए श्री शिंदे ने टीम एनटीपीसी को बधाई दी। एनटीपीसी ने अब राष्ट्र मंडल खेलों की बिजली की आवश्यकता को पूरा करने के लिए दादरी स्टेज II से 980 मेगावॉट बिजली प्रदान की है।

श्री पी उमा शंकर, सचिव (विद्युत) ने अपने संबोधन में एनटीपीसी की परियोजना प्रबंधन क्षमताओं की प्रशंसा की। श्री आर एस शर्मा, अध्यक्ष एवं प्रबन्ध निदेशक, एनटीपीसी ने बताया कि दादरी की 490 मेगावॉट यूनिट-6 को रिकॉर्ड समय में वाणिज्यिक घोषित किया गया है। एनटीपीसी की शीर्ष प्रबंधन टीम भी इस अवसर पर उपस्थित थी।

एनटीपीसी के दादरी चरण-II से उत्पन्न बिजली की आपूर्ति दिल्ली को (90%) और उत्तर प्रदेश को (10%) की जाएगी। एनटीपीसी दादरी देश की एकमात्रा ऐसी परियोजना है जिसमें कुल 2637 मेगावॉट संस्थापित क्षमता के साथ कोयला और गैस आधारित दोनों परियोजनाएँ हैं - पहले चरण में 840 मेगावॉट (210 मेगावॉट X 4) तथा दूसरे चरण में 980 मेगावॉट (490 मेगावॉट X 2) कोयला आधारित और 817 मेगावॉट गैस आधारित स्टेशन हैं।

एनटीपीसी में वर्तमान में 17 स्थानों पर 17,000 मेगावॉट से अधिक क्षमता निर्माणाधीन है। एनटीपीसी की योजना वर्ष 2017 तक 75 गीगावॉट कंपनी बनने की है।

श्री सुशीलकुमार शिंदे द्वारा एनटीपीसी - दादरी की 490 मेगावॉट इकाई की कमिशनिंग के बाद एनटीपीसी की कुल संस्थापित क्षमता 32194 मेगावॉट


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति