मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

श्री अरूप रॉय चौधरी ने एनटीपीसी लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का कार्यभार संभाला

01st सितम्बर, 2010

श्री अरूप रॉय चौधरी ने आज नई दिल्ली में एनटीपीसी लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का कार्यभार संभाला। बीआईटी, मेसरा से सिविल इंजीनियर और आईआईटी, दिल्ली से प्रबंधन में स्नातकोत्तर, श्री रॉय चौधरी ने अपना कैरियर 1979 में आरंभ किया और राइट्स, इरकॉन तथा डीएलएफ आदि जैसी सार्वजनिक और निजी क्षेत्र की प्रमुख कंपनियों में कार्य किया। इस प्रकार उन्हें निजी और सार्वजनिक दोनों ही क्षेत्रों का व्यापक अनुभव है और अपने खाते में अनेक “प्रथम” होने के गौरव के साथ उन्होंने एक असाधारण निष्पादक का दर्जा प्राप्त किया है। वे “सक्रिय पहुँच द्वारा परियोजना कार्यान्वयन” के नए प्रतिमान में दृढ़ विश्वास रखते हैं।

एनटीपीसी में कार्यभार संभालने पर श्री अरूप रॉय चौधरी ने कर्मचारियों को दिए गए संदेश में कहा “मैं चाहता हूं कि हम सभी साथ मिलकर भारत के विकास को ऊर्जा प्रदान करते हुए एनटीपीसी को विश्व का सबसे बड़ा और सर्वोत्तम विद्युत उत्पादक बनाने की दिशा में ऊंचाई तक ले जाने के लिए कार्य करें। हमारा प्रयास होगा कि हम हमेशा एनटीपीसी में एक दूसरे को मान्यता, आदर और समर्थन देने के साथ-साथ उद्योग और सभी पणधारियों के बीच भी मान्यता और आदर पाएँ।”

श्री चौधरी इसके पूर्व भारत के सबसे बड़े केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम (सीपीएसयू) राष्ट्रीय भवन निर्माण निगम (एनबीसीसी) के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक रहे चुके हैं। वे 198 उद्यमों की सदस्यता वाले केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यमों का प्रतिनिधित्व कर रहे शीर्ष निकाय स्टैंडिंग कॉन्फ्रेंस ऑफ पब्लिक एंटरप्राइजिज (स्कोप) के अध्यक्ष भी निर्वाचित किए गए हैं।

श्री रॉय चौधरी को अपने व्यावसायिक क्षेत्रा में योगदानों के लिए अनेक सम्मान प्रदान किए जा चुके हैं। इंजीनियरी विषय में इनकी विशेषज्ञता, खास तौर पर निर्माण उद्योग और प्रबंधकीय दक्षता के लिए वे अनेक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर सम्मान प्राप्त कर चुके हैं, जहाँ उन्होंने सत्रों की अध्यक्षता की है तथा शोध पत्र प्रस्तुत किए हैं।

श्री चौधरी को 44 वर्ष की आयु में एक केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम (सीपीएसई) में सबसे कम आयु के मुख्य कार्यपालन अधिकारी बनने का गौरव प्राप्त है, जब उन्होंने अप्रैल 2001 में एनबीसीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का कार्यभार संभाला। उन्होंने, एनबीसीसी, जो एक बीमार कंपनी थी और जिसे विनिवेश के लिए नामांकित किया जा चुका था, का कायाकल्प करके अनुसूची ए की लाभांश भुगतान करने वाली कंपनी में रूपांतरित कर दिया। श्री रॉय चौधरी को भारत के प्रधानमंत्री द्वारा एनबीसीसी को “दस सर्वोच्च केन्द्रीय पीएसयू” में से एक तथा “सर्वोत्तम कायाकल्पित” कम्पनी बनाने के लिए पुरस्कार प्रदान किए जा चुके हैं।

कई देशों की यात्रााएँ कर चुकने वाले श्री चौधरी ने अनेक प्रतिष्ठित मंचों पर भारत का प्रतिनिधित्व किया है, जैसे जिनेवा में आईएलओ, एसएएसएसी के साथ वार्ता हेतु सीपीएसई शिष्ट मंडल का नेतृत्व, शहरी विकास पर भारत-फ्रांस कार्य समूह बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व।

वे आईआईएम इंदौर सोसाइटी जैसे प्रमुख व्यावसायिक निकायों, प्रधानमंत्री की वैज्ञानिक सलाहकार समिति, संयुक्त क्षेत्र कम्पनियों के सूचीयन हेतु रहनुमाई करने वाली समिति के सदस्य और फिक्की सीआईएस समूह के अध्यक्ष हैं।

अध्ययन के शौकीन श्री अरूप रॉय चौधरी अपने व्यावसायिक क्षेत्र से परे कोई गहरी खोज करने के इच्छुक रहते हैं तथा उनका विश्वास है कि सीखने की प्रक्रिया का कोई अन्त नहीं है। वे आजकल आईआईटी दिल्ली से डॉक्टरेट कर रहे हैं।

श्री अरूप रॉय चौधरी ने एनटीपीसी लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक का कार्यभार संभाला


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति