मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

विद्युत मंत्रालय के माध्यम से कार्य कर रहे भारत के राष्ट्रपति द्वारा एनटीपीसी में 5% का विनिवेश, एफपीओ 3 फरवरी को खुलेगा

14th जनवरी, 2010

मुंबई, 14 जनवरी : भारत की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादन कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड सेबी (पूंजी का निर्गम एवं प्रकटीकरण अपेक्षाएं) विनियम 2009 की अनुसूची XI के भाग-घ के अंतर्गत वैकल्पिक पुस्तिका तैयार करने की प्रक्रिया के माध्यम से विनिर्धारित किए जाने वाले मूल्यों पर प्रति 10/- रुपए के 412,273,220 ईक्विटी शेयरों के अपने फर्दर पब्लिक ऑफर (एफपीओ) के साथ 3 फरवरी, 2010 को पूंजी बाजार में प्रवेश करेगी । एफपीओ 5 फरवरी, 2010 को बंद होगा ।

एनटीपीसी लिमिटेड ने इस आशय का नियामक भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) को रेड हेरिंग प्रोस्पेक्टस प्रस्तुत किया है ।

इस ऑफर की न्यूनतम (फ्लोर) कीमत और न्यूनतम बोली लॉट के संबंध में निर्णय प्रस्ताव खुलने के कम से कम एक दिन पूर्व किया जाएगा । एफपीओ के कुल 4,273, 220 ईक्विटी शेयर एनटीपीसी कर्मचारियों के लिए आरक्षित रखे गए हैं ।

यह ऑफर विद्युत मंत्रालय के माध्यम से कार्य कर रहे भारत के राष्ट्रपति द्वारा एनटीपीसी लिमिटेड में 5% के विनिवेश के लिए है । इस ऑफर से पहले भारत सरकार के पास एनटीपीसी की ईक्विटी शेयर पूंजी का लगभग 89.5% शेयर था । एफपीओ से प्राप्त राशि विद्युत मंत्रालय के माध्य से कार्य कर रहे भारत के राष्ट्रपति के पास जाएगी । आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिमिटेड, सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, जेपी मोरगन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और कोटक महिन्द्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड इस ऑफर के बुक रनिंग लीड मैंनेजर हैं और कर्वी कंप्यूटर शेयर प्राइवेट लिमिटेड रजिस्टार हैं ।

30 सितंबर, 2009 को कंपनी की अपनी संस्थापित विद्युत उत्पादन क्षमता भारत की कुल संस्थापित क्षमता की लगभग 18.6% थी । वित्त वर्ष 2009 में कंपनी ने भारत की कुल विद्युत उत्पादन क्षमता 28.6% का योगदान किया (स्रोत  सीईए) । वर्ष 2009 में एनटीपीसी लिमिटेड एशिया में शीर्ष स्वतंत्र विद्युत उत्पादक था और मैकग्रॉ-हिल कंपनीज के एक प्रभाग-प्लाट्स द्वारा किए गए सर्वेक्षण के अनुसार अपनी परिसंपत्ति, संपत्ति, राजस्व, लाभ और पूंजी निवेश पर प्रतिलाभ के आधार पर विश्व में दूसरे स्थान पर था ।

30 सितंबर, 2009 को कंपनी की कुल संस्थापित विद्युत उत्पादन क्षमता 30,644 मे.वा. थी जिसमें एनटीपीसी की अपनी निजी 112 यूनिटों के माध्यम से 28,350 मे.वा. की क्षमता और दो संयुक्त उद्यम कंपनियों के माध्यम से अनुमानतः 2,294 मे.वा. की उत्पादन क्षमता शामिल है । कंपनी की निजी उत्पादन क्षमता में 15 कोयला आधारित पावर स्टेशनों के माध्यम से प्रचालित 86.0% कोयला आधारित है और 7 गैस आधारित पावर स्टेशनों (एक नफ्था ज्वलित स्टेशन सहित) के माध्यम से प्रचालित 14.0% क्षमता गैस आधारित है । वित्त वर्ष 2009 में कंपनी ने अपने निजी स्टेशनों से 206.9 मिलियन यूनिट बिजली का उत्पादन किया ।

भारत सरकार ने भारत के आर्थिक विकास के उद्देश्यों की पूर्ति करने में बुनियादी ढ़ांचे की अपर्याप्तता को विशेष बाधा माना है । विशेष रूप से, विद्युत क्षेत्र को भारत सरकार द्वारा सतत आर्थिक विकास का महत्वपूर्ण ढ़ांचा माना गया है । 11वीं योजना के अंतर्गत विद्युत क्षेत्र में 11वीं योजना के दौरान बुनियादी ढांचे में किए जाने वाले कुल निवेश का 30.4% निवेश किए जाने की संभावना है ।

बिजली में 7,253.33 बिलियन रूप के कुल संभावित निवेश में से, उत्पादन के लिए 4,034.76 बिलियन रुपए (56%), पारेषण के लिए 1,520.77 बिलियन रुपए (21%) और वितरण के लिए 1,697.22 बिलियन रुपए का निवेश किए जाने की संभावना है (स्रोत  11वीं योजना में बुनियादी ढांचे में निवेश का अनुमान  योजना आयोग) ।

संयुक्त राज्य में वितरण के लिए नहीं

"एनटीपीसी लिमिटेड का बाजार की स्थितियों तथा अन्य बातों के अधीन अपने ईक्विटी शेयर का एक और फर्दर पब्लिक ऑफर लाने का प्रस्ताव है और उसने कंपनी रजिस्टार, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, दिल्ली एवं हरियाणा, स्टॉक एक्सचेंज तथा भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) को रेड हेरिंग प्रोस्पेक्टस प्रस्तुत कर चुका है । रेट हेरिंग प्रोस्पेक्टस सेबी की वेबसाइट www.sebi.gov.in और बीआरएलएम की संबंधित वेबसाइटों www.icicisecurities.com, www.citibank.co.in, www.jpmipl.com, www.kmcc.co.in पर उपलब्ध हैं । निवेशक यह नोट करें कि ईक्विटी शेयरों में निवेश में काफी अधिक जोखिम रहता है और उससे संबंधित विवरण के लिए रेड हेरिंग प्रोस्पेक्टस के " रिस्क फैक्टर्स"" नामक भाग को देखें ।"

"यह सामग्री संयुक्त राज्य में या और कहीं ईक्विटी शेयर बेचने के लिए ऑफर नहीं है और न होगी या खरीदने के लिए ऑफर का अनुरोध नहीं है और न होगी । ईक्विटी शेयर संयुक्त राज्य में रजिस्ट्रेशन न होने या यथा संशोधित यू.एस. सिक्योरिटीज ऐक्ट, 1933 के अंतर्गत रजिस्टेशन से छूट होने पर ऑफर या विक्रय नहीं किए जा सकते । न तो कंपनी और न ही विक्रेता शेयरधारक का आशय संयुक्त राज्य में ऑफर के किसी प्रस्ताव को रजिस्टर करवाना या संयुक्त राज्य में ईक्विटी शेयरों का पब्लिक ऑफर देना है ।"

यह प्रेस विज्ञप्ति किसी प्रतिभूति को बेचने का प्रस्ताव या खरीदने का अनुरोध नहीं होगी न ही ऐसे किसी अधिकारिता क्षेत्र में इस प्रेस विज्ञप्ति में वर्णित प्रतिभूतियों की बिक्री होगी जिसमें ऐसे किसी अधिकारिता क्षेत्र के प्रतिभूति कानूनों के अंतर्गत रजिस्ट्रेशन या अर्हता प्राप्त करने से पूर्व यह ऑफर, अनुरोध या विक्रय गैर कानूनी होगा ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति