मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी- फरीदाबाद में सूक्ष्म एलगे के साथ CO2 को कम करने के लिए प्रायोगिक संयंत्र

21st नवम्बर, 2013

एनटीपीसी और आईओसीएल ने एनटीपीसी फरीदाबाद में सूक्ष्म एलगे के माध्यम से ईंधन गैस से CO2 के बायो-निर्धारण के लिए प्रायोगिक संयंत्र स्थापित किया है। क्षेत्र के दो संयुक्त एलगे तलाबों का निर्माण परियोजना में ढेरों से CO2 की निकासी के लिए किया गया है। छोटे तालाब में संचारण मास में पहले किया गया था और जनवरी, 2014 की लक्षित तारीख से काफी पहले सूक्ष्म एलगे के उत्पादन के लिए बड़े तालाब में आज संचारण किया गया है।

Pilot Plant to Mitigate Co2 with Micro Algae

यह परियोजना 21वीं सदी और उससे परे प्याार्वरण चुनौतियों को पूरा करने के लिए एनटीपीसी की योजना का भाग है जिसमें कंपनी प्याार्वरण पर विद्युत उत्पादन के प्रभाव को न्यूनतम करने के लिए पर्यावरण कार्यव्यवहार और संरक्षण प्रणालियां अपनाने की योजना बनाती है। CO2 प्रमुख ग्रीन हाउस गैस है जो भूमि के वायुमण्डल की कुल भविष्य गर्मी में 50 प्रतिशत से अधिक का योगदान देती है।

एनटीपीसी प्याार्वरण संरक्षण के उद्देश्य को इसकी एक प्राथमिक जिम्मेदारी के रूप में आगे बढ़ा रहा है और अपने प्रयासों को इर्द-गिर्द पर इसके प्रचालनों के प्रभाव को कम करने पर ध्यान केन्दित करता है। परियोजना लागत का लगभग 12-15 प्रतिशत विभिन्न पर्यावरण संरक्षण उपस्करों पर खर्च किया जाता है।

फरीदाबाद में एनटीपीसी गैस परियोजना में एलगे तालाबों की स्थापना के साथ इस क्षेत्र में अनुसंधान के लिए फरवरी, 2010 में आईओसीएल (आर एण्ड डी यूनिट) और एनटीपीसी ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए।

परियोजना के लिए तकनीकी सहायता आईओसीएल (आर एण्ड डी यूनिट) फरीदाबाद और एनईटीआरए से एनटीपीसी के वैज्ञानिकों द्वारा प्रदान की गई है।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति