मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

आयोजन समिति राष्ट्रमंडल खेल 2010 दिल्ली और एन.टी.पी.सी. लि. द्वारा खेलों के लिए साझेदारी

10th दिसम्बर, 2009

नई दिल्ली, 10 दिसंबर, 2009  लगभग एक तिहाई देश को रोशन करने वाली सबसे बड़ी विद्युत कंपनी एन.टी.पी.सी. भारतीय उप महाद्वीप में आयोजित होने वाले विशालतम खेलों XIX राष्ट्रमंडल खेल 2010 दिल्ली के लिए आधिकारिक विद्युत साझेदार होगी । इस आशय से एन.टी.पी.सी. और राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति दिल्ली द्वारा नई दिल्ली में एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए । इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर श्री सुरेश कलमाडी संसद सदस्य एवं अध्यक्ष, आयोजन समिति राष्ट्रमंडल खेल दिल्ली 2010 तथा श्री आर. एस. शर्मा, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एन.टी.पी.सी. द्वारा किए गए । इस अवसर पर श्री सुशील कुमार शिंदे, केंद्रीय विद्युत मंत्री ; श्री भरत सिंह सोलंकी, केंद्रीय राज्य विद्युत मंत्री ; श्री एच.एस. ब्रह्मा, सचिव विद्युत और विद्युत मंत्रालय, राष्ट्रमंडल सचिवालय और एन.टी.पी.सी. के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे ।

इस अवसर पर बोलते हुए श्री कलमाडी ने कहा कि ""हमें एन.टी.पी.सी. लि. के राष्ट्रमंडल खेल दिल्ली 2010 के लिए आधिकारिक विद्युत साझेदार बनने पर बेहद खुशी हुई है । ये खेल विकास के नये अवसरों की तलाश एवं विकास के लिए तथा भौगोलिक विविधता वाले पूरे देश के लोगों के साथ मजबूत संबंध स्थापित करने के लिए भारतीय व्यवसाय को एक महान अवसर प्रदान करेंगे । नःसंदेह राष्ट्रमंडल खेल 2010 दिल्ली ने भारत की विश्व में उपस्थिति दर्ज कराई है और खेल, राजनीति एवं आर्थिक महाशक्ति के रूप में उभरने पर देश को अग्र पंक्ति में लाकर खड़ा कर दिया है ।"

लगभग इसी प्रकार के विचार व्यक्त करते हुए श्री आर. एस. शर्मा ने कहा कि ""एन.टी.पी.सी. का विश्व स्तर की एकीकृत विद्युत कंपनी बनने और भारत के विकास को सशक्त बनाने का विज़न राष्ट्रमंडल खेलों के विज़न के अनुरूप है । इस सहयोग से एन.टी.पी.सी. को पूरे देश में और यहां तक कि विश्व में भी पहचान के लिए प्लेटफाम्र उपलब्ध होगा । एन.टी.पी.सी. का राष्ट्रमंडल खेलों के साथ सहयोग युवाओं के सकारात्मक मूल्यों को प्रोत्साहित करने, जीवंतता, स्वास्थ्य एवं उपलब्धियों में सहायक होगा ।

एन.टी.पी.सी. लि. खेल चिह्नों और बिम्बों का प्रयोग करके अपनी नेतृत्व स्थिति का कारोबार करेगा । इस पहचान से एन.टी.पी.सी. को अधिकारों के कारोबार, विज्ञापन, संवर्धन मिलेगा और पूरे देश में अपने ग्राहकों के साथ संबंध स्थापित करने के लिए पहचान मिलेगी ।

उल्लेखनीय है कि एन.टी.पी.सी. अपनी दादरी (980 मेवा.) और झज्झर (500 मेवा.) परियोजनाओं से लगभग 1500 मेवा. क्षमता की वृद्धि करेगा । बताया गया है कि ये परियोजनाएं राष्ट्रमंडल खेलों की तारीख तक तैयार हो जाएंगी । एन.टी.पी.सी.-दादरी वर्तमान में कोयला के माध्यम से 840 मेवा. और गैस के माध्यम से 817 मेवा. विद्युत का उत्पादन करता है । 980 मेवा. की अतिरिक्त कोयला क्षमता से इस स्टेशन की संस्थापित क्षमता बढ़कर 2637 मेवा. हो जाएगी ।

आयोजन समिति राष्ट्रमंडल खेल 2010 दिल्ली और एन.टी.पी.सी. लि. द्वारा खेलों के लिए साझेदारी


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति