मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी ने जेबीआईसी से 430 मिलियन अमरीकी डालर के निधिकरण का समझौता किया

27th जनवरी, 2014

एनटीपीसी लि. ने जापान बैंक फॉर इन्टरनेशनल कोआपरेशन (जेबीआईसी), जापानी सरकार की नीति-आधारित वित्तीय संस्था, के साथ अपनी कुडगी और औरेया परियोजनाओं के लिए लगभग 430 मिलियन अमरीकी डालर (लगभग 2,650 करोड़ रूपए) के लिए दो विदेशी करेंसी ॠण करार किए हैं। ॠण करारों पर 25 जनवरी, 2014 को नई दिल्ली में श्री कुलामानी बिस्वाल, निदेशक ( वित्त), एनटीपीसी और श्री हिरोशी वातानबे, गवर्नर, जेबीआईसी द्वारा हस्ताक्षर किए गए थे।

NTPC ties up with JBIC

कंपनी ने जापान के साथ-साथ भारत से कर्नाटक राज्य में स्तिथ कुडगी सुपर तापीय विद्युत परियोजना चरण-ई (3×800 मेगावाट) के लिए आपूर्तियों और सेवाओं को वित्तपोषित करने के लिए जेबीआईसी के साथ 350 मिलियन अमरीकी डालर के सावधि ॠण पर हस्ताक्षर किए। सुविधा में सीआईआरआर आधारित निश्चित ब्याज ट्रांश और एक फलोटिंग ब्याज पर ट्रांश शामिल है, और द्वार से द्वार परिपक्वता लगभग 15 वर्ष है। जेबीसी के साथ हस्ताक्षरित दूसरा ॠण एनटीपीसी के औरैया गैस विद्युत केन्द्र में गैस टरबाइनों के नवीकरण और आधुनिकीकरण को वित्तपोषण करने के लिए जे.बी.आई.सी. 8,021 मिलियन के लिए है। यह सुविधा सीआईआरआर आधारित निश्चित ब्याज दर सुविधा के साथ द्वार से द्वार 12 वर्ष से अधिक की परिपक्वता है। कुडगी विद्युत परियोजना सुपर क्रिटिकल प्राैद्योगिकी पर आधारित है जिसमें सब-क्रिटिकल प्राद्योगिकी पर आधारित परियोजनाओं की तुलना में कम कार्बन तीव्रता होती है।

इन दोनों ॠणों में सुविधा राशि का 60 प्रतिशत जेबीसीआईसी द्वारा प्रदान किया गया है और शेष राशि गारंटी के तहत वाणिज्यिक बैंकों द्वारा प्रदान की गई है। ॠण बिना किसी प्रभुसत्ता -संपन्न गारंटी के आधार पर स्टैंड एलोन पर प्रदान किए गए हैं जो एनटीपीसी की सुदृढ़ क्रेडिट गुणवत्ता को दर्शाता है। यह पहली बार है कि जेबीआईसी ने सीधे ही एनटीपीसी को सीधे ॠण सुविधा प्रदान की है। पहले जीबीआईसी ने एनटीपीसी की बाढ़ चरण-I परियोजना के लिए 380 मिलियन अमरीकी डालर के असंबद्ध ॠण के लिए गारंटी प्रदान की थी।

16 कोयला आधारित, 7 गैस आधारित, 2 सौर नवीकरणीय और 7 संयुक्त उद्यम विद्युत संयंत्रों के माध्यम से 42454 मेगावाट की स्थापित क्षमता के साथ भारत की संस्थापित क्षमता के लगभग 19 प्रतिशत के साथ एनटीपीसी देश के विद्युत उत्पादन में लगभग 28 प्रतिशत का योगदान देता है। एनटीपीसी को वर्ष 2013 के लिए प्लाट्स उच्च 250 वैश्विक ऊर्जा कंपनियों में नम्बर 1 स्वतंत्र विद्युत उत्पादक का रैंक दिया गया है।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति