मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एन.टी.पी.सी. द्वारा हैरिटेज स्थलों के जीर्णोद्धार एवं संरक्षण के लिए भारतीय पुरात्व सर्वेक्षण (ए.एस.आई) और राष्ट्रीय संस्कृति फंड के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

30th दिसम्बर, 2009

मध्य प्रदेश में मांडु स्थित स्मारक के समूह, उत्तराखंड में जागेश्वर के मंदिरों के समूह और उड़ीसा में ललितगिरि धौली में पुरातत्व स्थल

एन.टी.पी.सी. मध्य प्रदेश में मांडु स्थित स्मारक के समूह, उत्तराखंड में जागेश्वर के मंदिरों के समूह और उड़ीसा में ललितगिरि धौली में पुरातत्व स्थल के जीर्णोद्धार, संरक्षण एवं विकास के लिए भारतीय पुरात्व सर्वेक्षण और राष्ट्रीय संस्कृति फंड के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं ।

इस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर श्री के. एन. श्रीवास्तव, महानिदेशक, ए.एस.आई. ; श्री अमरेश सिंह, सदस्य सचिव, राष्ट्रीय संस्कृत फंड और श्री दिनेश अग्रवाल, महाप्रबंधक, कारपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व, एन.टी.पी.सी. द्वारा किए गए । श्री जवाहर सरकार, संस्कृति सचिव भी उस समय उपस्थित थे । इस अवसर पर बोलते हुए श्री ए. सी. चतुर्वेदी, कार्यपालक निदेशक (सी.एस.आर.), एनटीपीसी ने कहा कि एन.टी.पी.सी. ऐसे संस्कृति हैरिटेज स्थलों का संरक्षण करने में अपना सहयोग देने के लिए प्रतिबद्ध है जो हमारी राष्ट्रीय धरोहर हैं ।

एन.टी.पी.सी. द्वारा हैरिटेज स्थलों के जीर्णोद्धार एवं संरक्षण के लिए भारतीय पुरात्व सर्वेक्षण (ए.एस.आई) और राष्ट्रीय संस्कृति फंड के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर

समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर श्री दिनेश अग्रवाल, महाप्रबंधक, कारपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व, एन.टी.पी.सी. ; श्री के. एन. श्रीवास्तव, महानिदेशक, ए. एस. आई. और श्री अमरेश सिंह, सदस्य सचिव, राष्ट्रीय संस्कृति फंड द्वारा किए गए । श्री जवाहर सरकार, संस्कृति सचिव और श्री ए.सी. चतुर्वेदी, कार्यपालक निदेशक (सी.एस.आर.), एन.टी.पी.सी. भी उपस्थित थे ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति