मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी ने गेल, आईओसीएल, बीपीसीएल के साथ जीएसए पर हस्ताहक्षर किए

04th दिसम्बर, 2009

एनटीपीसी लिमिटेड ने अपनी राजीव गांधी संयुक्त( चक्र विद्युत परियोजना के लिए नई दिल्लीि में 20 वर्ष की अवधि के लिए लगभग 1.2 एमटीपीए आरएलएनजी की आपूर्ति के लिए गेल, आईओसीएल तथा बीपीसीएल के साथ गैस बिक्री समझौतों (जीएसए) पर हस्तापक्षर किए । यह परियोजना कायमकुल्लपम, जिला अल्ल पुझा, केरल में पुन: गैसीकृत एल एन जी (आरएलएनजी) पर आधारित है ।

जीएसए पर हस्ता क्षर माननीय विद्युत मंत्री श्री सुशीलकुमार शिंदे, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव श्री टी के ए नायर, विद्युत सचिव श्री हरीशंकर ब्रह्मा, एनटीपीसी के अध्य,क्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री आर. एस. शर्मा, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय में संयुक्तश सचिव श्री अपूर्व चंद्रा तथा विद्युत मंत्रालय में संयुक्त. सचिव श्री आई. सी. पी. केसरी की गरिमामय उपस्थिति में किए गए । लाभानुभोगी राज्यों अर्थात आंध्र प्रदेश, केरल तथा कर्नाटक से वरिष्ठी पदाधिकारी भी उपस्थित थे । श्री आर. डी. गोयल, निदेशक (परियोजना), गेल, श्री ए. सेनगुप्ताे, निदेशक (वित्त), पीएलएल; श्री चंदन राय, निदेशक (ओ), श्री ए. के. सिंघल, निदेशक (वित्त), श्री आर. सी. श्रीवास्त व, निदेशक (मानव संसाधन), तथा श्री आई. जे. कपूर, निदेशक (वाणिज्यस), एनटीपीसी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।.

जीएसए पर हस्तातक्षर एनटीपीसी के कार्यकारी निदेशक (ईंधन प्रबंधन) श्री टी. के. चटर्जी; गेल के कार्यकारी निदेशक (विपणन) श्री जे. वासन; बीपीसीएल के कार्यकारी निदेशक (गैस) श्री ए. के. बंसल तथा आईओसीएल के महाप्रबंधक (गैस) श्री वी. दामोदरन ने अपने संबंधित संगठनों के लिए किए ।

परियोजना का चरण-I (360 मेगावॉट) वर्तमान में ईंधन के रूप में नाफ्था का प्रयोग करके प्रचालनरत है । चरण-II विस्ता(र में मूलत: 1950 मेगावॉट की कुल सांकेतिक‍ क्षमता परिकल्पित है । आरएलएनजी की सहबद्ध मात्रा विद्यमान चरण I को तथा चरण II के एक मॉड्यूल को समर्थित कर सकती है । चरण II के लिए अपेक्षित अतिरिक्ति प्रमात्राओं की सहबद्धता के लिए प्रयास किए जा रहे हैं ।

आरएलएनजी का संवहन गेल द्वारा ~ 110 कि.मी. समर्पित उप-समुद्री पाइपलाइन के जरिए किया जाएगा जिसे गेल द्वारा बिछाया जाएगा पेट्रोनेट एलएनजी लिमिटेड (पीएलएल) वर्ष 2012 तक कोची में एलएनजी टर्मिनल की स्था पना करेगा । आरएलएनजी के संवहन के लिए एनटीपीसी तथा गेल के बीच पृथक गैस संवहन समझौते (जीटीए) पर हस्ताजक्षर किए जाएंगे ।

एनटीपीसी की वर्तमान में गैस आधारित केंद्रों के माध्यकम से लगभग 5000 मेगावॉट क्षमता का प्रचालन करता है। कंपनी की कुल संस्था पित क्षमता 30644 मेगावॉट है जो संयुक्त0 उद्यमों सहित 26 विद्युत केंद्रों के माध्य म से प्राप्तन होती है। कंपनी का वर्ष 2012 तक 50 गीगावॉट, तथा वर्ष 2017 तक 75 गीगावॉट कंपनी बनने का क्षमता वर्धन लक्ष्यो है। कंपनी वर्तमान में लगभग 18000 मेगावॉट की अतिरिक्तद क्षमता के लिए कार्य कर रही है।

एनटीपीसी ने गेल, आईओसीएल, बीपीसीएल के साथ जीएसए पर हस्ताहक्षर किए
 

श्री टी. के. चटर्जी, कार्यकारी निदेशक (ईंधन प्रबंधन), एनटीपीसी; श्री जे. वासन, कार्यकारी निदेशक (विपणन), गेल; श्री ए. के. बंसल, कार्यकारी निदेशक (गैस), बीपीसीएल तथा श्री वी. दामोदरन, महाप्रबंधक (गैस) आईओसीएल हस्ता क्षर के पश्चांत जीएसए दस्तालवेजों का आदान प्रदान करते हुए ।

जीएसए पर हस्ताकक्षर माननीय विद्युत मंत्री श्री सुशीलकुमार शिंदे, प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव श्री टी के ए नायर, विद्युत सचिव श्री हरीशंकर ब्रह्मा, एनटीपीसी के अध्य,क्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री आर एस शर्मा, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय में संयुक्तं सचिव श्री अपूर्व चंद्र तथा विद्युत मंत्रालय में संयुक्ति सचिव श्री आई सी पी केसरी की भव्य उपस्थिति में किए गए । लाभानुभोगी राज्यों अर्थात आंध्र प्रदेश, केरल तथा कर्नाटक से वरिष्ठव पदाधिकारी भी उपस्थित थे । श्री आर. डी. गोयल, निदेशक (परियोजना), गेल, श्री ए. सेनगुप्ता , निदेशक वित्त, पीएलएल; श्री चंदन राय, निदेशक (ओ), श्री ए. के. सिंघल, निदेशक (वित्त), श्री आर सी श्रीवास्तनव, निदेशक (मानव संसाधन), तथा श्री आई जे कपूर, निदेशक (वाणिज्यर), एनटीपीसी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

एनटीपीसी लिमिटेड ने अपनी राजीव गांधी संयुक्तू चक्र विद्युत परियोजना के लिए नई दिल्लीय में 20 वर्ष की अवधि के लिए लगभग 1.2 एमटीपीएआरएलएनजी की आपूर्ति के लिए गेल, आईओसीएल तथा बीपीसीएल के साथ गैस बिक्री समझौतों (जीएसए) पर हस्तातक्षर किए। यह परियोजना कायमकुल्लीम, जिला अल्लवपुझा, केरल में पुन: गैसीकृत एल एन जी (आरएलएनजी) पर आधारित है ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति