मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

नए कीर्तिमान स्थापित करता एनटीपीसी

17th सितम्बर, 2013

एनटीपीसी ने पिछले दो वर्ष के दौरान प्राप्त की गई वृद्धि की गति को और आगे बढ़ाने के लिए अपनी संयुक्त उद्यम परियोजनाओं के माध्यम से प्राप्त 1,000 मेगावाट की क्षमता सहित अपनी अब तक की सर्वाधिक 4,170 मेगावाट की क्षमता वृद्धि अर्जित की है। भारत की कुल संस्थापित क्षमता में 18.4 प्रतिशत की भागीदारी के साथ एनटीपीसी द्वारा वर्ष 2012-13 के दौरान देष के कुल विद्युत उत्पादन में 27.4 प्रतिशत का योगदान करते हुए अपनी निरंतर उच्च प्रचालनात्मक दक्षता को प्रदर्षित किया है। एनटीपीसी बाजार में एक अग्रणी नेतृत्व के रूप में सबसे आगे रहा तथा यह सबसे सस्ती विद्युत के उत्पादकों में भी शामिल रहा। कंपनी की विद्युत उत्पादन क्षमता 41,187 मेगावाट तक पहुंच गई है।

वर्ष 2012-13 में समग्र संतुलित निष्पादन सहित इसने श्रेष्ठता के मानदंडों को नई ऊँचाइयों तक पहुंचाते हुए निम्नलिखित उपलब्धियां अर्जित कीं :

Photo caption :

Dr. Arup Roy Choudhury, CMD NTPC addressing the shareholders at the 37th Annual General Meeting of the Company in New Delhi today. All the Directors of the company were present on the occasion.

  • 4,170 मेगावाट की क्षमता वृद्धि, जो कि किसी एक वर्ष में अब तक की सर्वाधिक है।
  • 8,521 मेगावाट क्षमता संबंधी कार्य के लिए अनुबंध दिए।
  • 19,925.53 करोड़ रुपए का पूंजी व्यय (कैपेक्स) जो कि पिछले वर्ष से 24.58 प्रतिशत अधिक है।
  • 69.95 प्रतिशत के अखिल भारतीय पी एल एफ की तुलना में छह विद्युत संयंत्रों द्वारा 90 प्रतिशत से अधिक पी एल एफ दर्ज करते हुए 83.08 प्रतिशत का औसत पी एल एफ।
  • पिछले वर्ष के कर-पश्चात लाभ में 36.81 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करते हुए 12,619.39 करोड़ रुपए का अब तक का सर्वाधिक कर पश्चात लाभ (पीएटी)।
  • 68,775.51 करोड़ रुपए की कुल आय जोकि पिछले वर्ष से 6.07 प्रतिशत अधिक है।
  • शेयरधारकों द्वारा अनुमोदित किए गए अनुसार 5.75 रुपए प्रति शेयर (कुल 4,741.16 करोड़ रुपए) अब तक का सर्वाधिक लाभांश है।
  • भारत सरकार के 9.5 प्रतिशत के हिस्से के लिए ''बिक्री प्रस्ताव'' के दौरान 2 बिलियन अमेरिकी डालर (11,469.39 करोड़ रुपए) एकत्र किए गए। इस प्रस्ताव के लिए 1.7 गुना अधिक मांग सामने आई जिसमें से 45 प्रतिशत मांग विदेशी निवेशकों से प्राप्त हुई।
  • ग्राहकों से वर्तमान बिलों की 100 प्रतिशत वसूली हुई।
  • मंत्रिमंडल ने डेसू के दीर्घकालिक रूप से लंबित 2520.07 करोड़ रुपए की देय राषि के भुगतान का अनुमोदन कर दिया।
  • झारखंड राज्य में उÙारी करनपुरा सुपर थर्मल पावर प्रोजेक्ट का इसके वर्तमान स्थान पर कोयला लिंकेज सहित पुनरुद्धार।
  • स्रकार द्वारा चट्टी-बरियातु, चट्टी-बरियातु (दक्षिण) और केरन्दारी का आबंटन बहाल करना।
  • वर्ष 2012-13 के संबंध में भारत सरकार के साथ किए गए समझौता ज्ञापन के सभी लक्ष्यों को उत्कृष्ट श्रेणी के अंतर्गत प्राप्त किया।

SETTING NEW BENCHMARKS

चित्र परिचय : नई दिल्ली में सम्पन्न कंपनी की 37वीं वार्षिक आम बैठक में शेयरधारकों को संबोधित करते हुए एनटीपीसी के अध्यक्ष व प्रबंध निदेषक डॉ. अरुप रॉय चौधरी, इस अवसर पर कंपनी के सभी निदेशक उपस्थित थे।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति