मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी को एनसीपीईडीपी - शेल हेलेन केलर अवॉर्ड 2009 मिला

03rd दिसम्बर, 2009

एनटीपीसी को नई दिल्लीप में अपने प्रक्रियाओं, नीतियों तथा अपंग व्यथक्तियों के लिए समान अधिकारों एवं लाभप्रद रोजगार में विश्वा स के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री कपिल सिब्ब‍ल से प्रतिष्ठित एनसीपीईडीपी - शेल हेलेन केलर अवार्ड 2009 प्राप्तं हुआ है । यह अवॉर्ड एनटीपीसी के निदेशक (मानव संसाधन) श्री आर. सी. श्रीवास्त्व ने प्राप्त किया। कार्यक्रम की अध्यएक्षता इंडियन एक्सनप्रेस के संपादक श्री शेखर गुप्ताई ने की । वर्तमान में, शारीरिक रूप से अपंग 476 व्यैक्ति एनटीपीसी में नियोजित हैं जिनमें से 96 व्यकक्ति कार्यपालक संवर्ग में कार्यरत हैं ।

अपंग व्यकक्तियों के लिए रोजगार के संवर्धन हेतु राष्ट्रीअय केंद्र अलग अलग कंपनियों/संगठनों/संस्थाएओं को सम्मावनित करता है जो उस की संकल्प ना में साझेदारी करते हैं तथा अपनी नीतियों तथा प्रक्रियाओं के माध्यनम से अपंग व्य‍क्तियों के लिए समान अधिकार तथा रोजगार में उनके विश्वातस को प्रदर्शित करते हैं। इस श्रेणी में अन्यम अवॉर्ड प्राप्तन करने वाली कंपनियां हैं - आई बी एम इंडिया प्रा. लि., स्टीरल अथॉरिटी ऑफ इंडिया लि. (सेल) तथा बिप्रो लि.। एनटीपीसी को यह शेल हेलन केलर अवॉर्ड तीसरी बार प्राप्त हुआ है । एनटीपीसी को सर्वोत्तम नियोजक (शारीरिक अपंगता वाले व्यलक्ति) के लिए भारत सरकार का राष्ट्री य अवार्ड भी प्राप्तय हुआ है।

एनटीपीसी में, कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्वत एक विश्वाभस की मद है। विगत वर्षों में, कंपनी ने कॉर्पोरेट संवृद्धि तथा सामाजिक प्रतिबद्धता को मिश्रित करने की एक स्विस्थव परम्पिरा कायम की है। कंपनी की अनेक कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्वत की पहलों में से एक पहल यह है कि यह एक विविध तथा सर्व - समावेशी कार्यबल में विश्वाउस करती है । एनटीपीसी का यह मानना सही है कि अपंग व्यिक्तियों को मात्र रोजगार उपलब्ध करा देना ही पर्याप्त‍ नहीं हैं, इन कर्मचारियों पर रोजगार से पूर्व तथा पश्चा त, दोनों ही प्रकार का सकेंद्रित ध्याएन दिया जाना आवश्ययक है । शारीरिक रूप से अपंग कर्मचारियों के साथ परस्प र क्रियात्म‍क बैठकों का आयोजन नियमित आधार पर किया जाता है ।

समान अवसर प्रकोष्ठ - सूचना एवं संचार प्रशिक्षण (आईसीटी) केंद्र की स्थायपना संयुक्तत रूप से एनटीपीसी फाउंडेशन तथा दिल्लीक विश्वठविद्यालय द्वारा की गई है ताकि अपंग विद्यार्थियों को सूचना प्रौद्योगिकी कौशल सीखने में समर्थ बनाया जा सके तथा यह मुख्यव धारा समाज में उनको समायोजित होने में सहायता करता है । यह केंद्र दृष्टिक, श्रवण, चल तथा संज्ञानात्मंक अपंगताओं वाले अपंग विद्यार्थियों की प्रशिक्षण आवश्य कताओं की पूर्ति हेतु विशेष सॉफ्टवेयर तथा हार्डवेयर से सुसज्जित हैं ।

एनटीपीसी एमबीए / पीजीडी बीएम पाठ्यक्रम का परिशीलन करने वाले शारीरिक रूप से अपंग पांच विद्यार्थियों को तथा इंजीनियरी पाठ्यक्रम में उपाधि के लिए परिशीलन कर रहे शारीरिक रूप से अपंग (पीएच) विद्यार्थियों को 1500 रुपए प्रत्ये क की छात्रवृत्तियां देता है । एनटीपीसी - विंध्यायचल में मूक / बधिर तथा मानसिक रूप से अल्पीविकसित बच्चोंक के लिए एक अनन्यह विद्यालय नामत: आशा किरण है ।
एनटीपीसी को एनसीपीईडीपी - शेल हेलेन केलर अवॉर्ड 2009 मिला

एनटीपीसी को नई दिल्लील में अपने प्रक्रियाओं, नीतियों तथा अपंग व्य‍क्तियों के लिए समान अधिकारों एवं लाभप्रद रोजगार में विश्वानस के लिए केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री कपिल सिब्बयल से प्रतिष्ठित एनसीपीईडीपी - शेल हेलेन केलर अवार्ड 2009 प्राप्तं हुआ है । यह अवॉर्ड एनटीपीसी के निदेशक (मानव संसाधन) श्री आर सी श्रीवास्तवव ने प्राप्तध किया । श्री शेखर गुप्ता , संपादन, इंडियन एक्सनप्रेस तथा श्री जावेद अबीदी, कार्यकारी संपादक, एनसीपीईडीपी भी इस कार्यक्रम में उपस्थित थे ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति