मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी को महारत्न पीएसयू का प्रमाणपत्र

16th नवम्बर, 2010

एनटीपीसी यह सम्मान पाने वाला विद्युत क्षेत्र का प्रथम पीएसयू है

श्री अरूप रॉय चौधरी, अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, एनटीपीसी ने आज श्री विलासराव देशमुख, केन्द्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री से चार चुने हुए पीएसयू पर भारत सरकार की ओर से एनटीपीसी को महारत्न का दर्जा देने का प्रमाणपत्र ग्रहण किया। एनटीपीसी यह सम्मान पाने वाला विद्युत क्षेत्र का पहला पीएसयू है। ये प्रमाणपत्र नई दिल्ली में आयोजित रिसर्ज़ेंट पीएसयू-वाइब्रेंट इंडिया सम्मेलन में प्रदान किया गया।

महारत्न का दर्जा प्राप्त करने पर एनटीपीसी के निदेशक मंडल को वित्तीय संयुक्त उद्यमों और पूर्ण स्वामित्व की सहायक कंपनियों की स्थापना में इक्विटी निवेश भारत या विदेश में विलय तथा अधिग्रहण करने का अधिकार प्राप्त है जो एक परियोजना के लिए पूर्व में 1000 करोड़ रुपए की सीमा की तुलना में अब 5000 करोड़ रु. के निवल मूल्य की 15 प्रतिशत की सीमा तक है।

देश की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादक कंपनी, एनटीपीसी में वर्तमान में 32000 मेगावॉट से अधिक की संस्थापित क्षमता है। एनटीपीसी वर्तमान में देश भर में 28 विद्युत स्टेशनों का प्रचालन करता है। इस समय एनटीपीसी के पास 16,000 मेगावॉट से अधिक की निर्माणाधीन क्षमता है और इसकी योजना वर्ष 2017 तक 75 गीगावॉट कंपनी बनने की है।

Certificate for Maharatna

श्री अरूप रॉय चौधरी, अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, एनटीपीसी ने आज श्री विलासराव देशमुख, केन्द्रीय भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्री से चार चुने हुए पीएसयू पर भारत सरकार की ओर से एनटीपीसी को महारत्न का दर्जा देने का प्रमाणपत्र ग्रहण किया। एनटीपीसी यह सम्मान पाने वाला विद्युत क्षेत्र का पहला पीएसयू है। प्रमाणपत्र नई दिल्ली में आयोजित रिसर्ज़ेंट पीएसयू सम्मेलन में प्रदान किये गये। चित्रा में श्री अरुण यादव, भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम राज्य मंत्री, श्री भास्कर चटर्जी, आईएएस, सचिव, सार्वजनिक उद्यम विभाग और श्री भवानी सिंह मीणा, आईएएस, सचिव, भारी उद्योग विभाग भी हैं।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति