मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

भारत की राष्ट्रपति द्वारा एनटीपीसी महारत्न पीएसयू का सम्मान

11th अप्रैल, 2011

भारत की राष्ट्रपति, श्रीमती प्रतिभा देवीसिंह पाटिल ने लोक उद्यम विभाग और स्कोप द्वारा सार्वजनिक क्षेत्र दिवस के आयोजन के दौरान किए गए कार्यक्रम में महारत्न पीएसयू के प्रमुखों का सम्मान किया। इस चित्र में माननीय राष्ट्रपति महोदया ने श्री अरूप रॉय चौधरी, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एनटीपीसी - महारत्न पीएसयू को एक शील्ड और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। श्री प्रफुल्ल पटेल, केन्द्रीय भारी उद्योग तथा लोक उद्यम मंत्री, श्री ए साईं प्रताप, भारी उद्योग तथा लोक उद्यम राज्य मंत्री तथा श्री एस पी सिंह, निदेशक (मानव संसाधन), एनटीपीसी भी उपस्थित थे।

एनटीपीसी अपने कोयला आधारित 15, गैस आधारित 7 और संयुक्त उद्यम विद्युत के 6 स्टेशनों के माध्यम से देश की विद्युत आवश्यकताओं को पूरा करने वाली सबसे बड़ी विद्युत उपयोगिता है। कंपनी को सरकार द्वारा पिछले वर्षों के दौरान असाधारण उपलब्धियों के लिए “महारत्न” का दर्जा देकर सम्मानित किया गया है। कंपनी के पास 34194 मेगावॉट की कुल संस्थापित क्षमता है। एनटीपीसी ने वर्ष 2010-11 के लिए 2,490 मेगावॉट का अब तक का सबसे अधिक क्षमता वर्धन प्राप्त किया है।

PRESIDENT OF INDIA

श्री अरूप रॉय चौधरी ने पीएसई के प्रमुख के रूप में एक भव्य दशक पूरा किया

श्री अरूप रॉय चौधरी ने सार्वजनिक क्षेत्र उद्यमों, जिसमें पहला एनबीसीसी और फिर एनटीपीसी, एक महारत्न कंपनी के प्रमुख के रूप में एक असाधारण दशक पूरा किया गया है। श्री रॉय चौधरी को 44 वर्ष की आयु में केन्द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम (सीपीएसई) के सबसे युवा मुख्य कार्यपालन अधिकारी बनने का गौरव प्राप्त है, जब उन्होंने 3 अप्रैल 2001 को अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक के रूप में नेशनल बिल्डिंग्स कंस्ट्रक्शन कॉर्पोरेशन लि. का कार्यभार संभाला। इसके पूर्व उन्होंने 1979 से जानी मानी सार्वजनिक और निजी क्षेत्र की कंपनियों में कार्य किया।

01 सितम्बर, 2010 को एनटीपीसी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक बनने के बाद श्री रॉय चौधरी रूपांतरणकारी परिवर्तन लाने की सिद्ध क्षमता सहित गतिशीलता के प्रवर्तक बन गए।

श्री रॉय चौधरी को 01 अप्रैल, 2011 से आरंभ दो वर्ष की अवधि के लिए हाल ही में स्टैंडिंग कॉन्फ्रेंस ऑफ पब्लिक एंटरप्राइज (स्कोप) का अध्यक्ष सर्वसम्मति से चुना गया है। इस प्रकार वे लगातार दूसरी अवधि के लिए शीर्ष पीएसई संगठन का नेतृत्व करेंगे। यह एक व्यापार नेता के रूप में उनकी सिद्ध दक्षताओं को मान्यता देना और साथ ही अपने सहकर्मियों के बीच उनके प्रति उच्च सम्मान का प्रदर्शन भी है।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति