मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

NTPC Clocks Highest Ever Annual Cumulative Gross Generation of 263.95 BUs

17th मार्च, 2017

एनटीपीसी समूह ने वित्त वर्ष 2016 में दर्ज पिछले वार्षिक उच्च उत्पादन 262.42 बिलियन यूनिट को पार करते हुए वर्तमान वर्ष के दौरान कल तक अब तक का सबसे अधिक समेकित सकल उत्पादन 263.95 बिलियन यूनिट का विद्युत उत्पादन दर्ज किया है। एनटीपीसी समूह ने उत्पादन में पिछले वर्ष की तुलना में 4.71 प्रतिशत की वार्षिक विद्युत उत्पादन वृद्धि दर्ज की है।

एनटीपीसी पिट हैड कोयला स्टेशनों, जिनकी क्षमता 25840 मेगावाट है, ने 16 मार्च 2017 को एक दिन में 95.71 प्रतिशत पीएलएफ और मार्च 2017 के माह में अब तक 91.4 प्रतिशत समेकित मासिक पीएलएफ हासिल किया।

एनटीपीसी स्टेशनों ने वर्तमान माह में निरंतर उत्कृष्ट कार्यप्रदर्शन बनाए रखा और देश के सबसे बड़े विंध्याचल विद्युत संयंत्र ने (क्षमता 4760 मेगावाट है) 08 मार्च 2017 को 100.01 प्रतिशत पीएलएफ पर अब तक का एक दिवसीय सर्वाधिक उत्पादन 114.254 मिलियन यूनिट हासिल किया है। मौदा विद्युत संयंत्र ने भी 09 मार्च 2017 को एक दिन का अब तक का सबसे अधिक उत्पादन 31.2 मिलियन यूनिट दर्ज किया और एनटीपीसी के सोलर विद्युत संयंत्र ने 12 मार्च 2017 को 2.353 मिलियन यूनिट अधिकतम उत्पादन को हासिल किया।

एनटीपीसी देश की सबसे बड़ी विद्युत कम्पनी है और देश की ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है। देश के उत्पादन में लगभग 24 प्रतिशत के अंशदान द्वारा देश के आर्थिक एवं सामाजिक विकास में अपना योगदान दे रही है। एनटीपीसी का विज़न भारत के विकास को गति देते हुए विश्व की अग्रणी विद्युत कम्पनी बनना है। अपने कुशल प्रचालन और उच्च कार्यप्रदर्शन के लिए जानी जाने वाली एनटीपीसी की गणना, वैश्विक शीर्ष बीस कोयला आधारित विद्युत उत्पादक कंपनियों में की गई है। यह कोयला आधारित विद्युत उत्पादन क्षमता में तीसरी सबसे बड़ी कंपनी, पीएलएफ में दूसरी, मशीन उपलब्धता में तीसरी और विद्युत उत्पादन में सांतवी बड़ी कंपनी है।

एनटीपीसी के पास 19 कोयला आधारित, 7 गैस आधारित, 10 सोलर पीवी, एक हाइड्रो और 9 सहायक कंपनियां/संयुक्त उद्यम विद्युत स्टेशनों से कुल संस्थापित क्षमता 48,188 मेगावाट है। कम्पनी के पास पूरे देश में 23 स्थानों पर संयुक्त उद्यमों एवं सहायक कंपनियों द्वारा निष्पादित की जा रहीं 4300 मेगावाट सहित 23,000 मेगावाट से अधिक क्षमता कार्यान्वयन के अधीन है। हजारीबाग में एनटीपीसी की पहली कोयला खदान पाकरी-बरवाडिह में दिसम्बर, 2016 से परिचालित हो गई है। एनटीपीसी का पहला विन्ड पावर प्रोजेक्ट-रोजमल विन्ड पावर प्रोजेक्ट 50 मेगावाट गुजरात राज्य में स्थापित किया जा रहा है।

एनटीपीसी ने अभी हाल ही में आरजीसीसीपीपी कायमकुलम, केरल में 100 केडब्ल्यूपी फ्लोटिंग सोलर पीवी प्लांट का शुभारंभ किया है जो ‘मेक इन इंडिया‘ पहल के भाग के रूप में घरेलू तौर पर विकसित इस तरह का अब तक का सबसे बड़ा प्लांट है।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति