मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी सर्वाधिक महत्वनपूर्ण हरित विद्युत उत्पाथदक बनने के लिए आकांक्षित

07th नवम्बर, 2009

एनटीपीसी द्वारा राष्ट्रन के प्रति समर्पण के 34 वर्ष पूर्ण करने के अवसर पर कंपनी के कर्मचारियों को संबोधित करते हुए एनटीपीसी के अध्य्क्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री आर एस शर्मा ने कहा कि एनटीपीसी की आकांक्षा सर्वाधिक मूल्यीवान भारतीय कंपनी बनने के साथ साथ हरित विद्युत उत्पाहदन में अग्रणी बनने की है। उन्हों ने कहा कि आकार तथा निष्पाकदन के अर्थ में एनटीपीसी एक विश्वहस्तुरीय कंपनी है तथा भविष्यब में भी एनटीपीसी को मितव्य यी रूप से व्य्वहार्य तथा स्था्यी बिजली प्रदायक बनाने के लिए एक प्रौद्योगिकी रूप रेखा तैयार की जा रही है। उन्होंषने कहा कि दीर्घावधि कॉर्पोरेट योजना में बदलते पर्यावरण संबंधी उपायों वाली कार्यनीतियां, ईंधन एवं प्रौद्योगिकी विकल्पन भी शामिल होंगे। एनटीपीसी का शीर्ष प्रबंधन दल श्री आर के जैन, निदेशक (तकनीकी), श्री ए के सिंघल, निदेशक (वित्त), श्री आर सी श्रीवास्त व, निदेशक (मानव संसाधन), श्री आई जे कपूर, निदेशक (वाणिज्यि) और श्री बी पी सिंह, निदेशक (परियोजना) भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

श्री शर्मा ने पुन: दोहराया कि एनटीपीसी विश्वी में सबसे स्वनच्छो जीवाश्मी ईंधन विद्युत उत्पा दकों में से एक है तथा इसकी कार्बन डाई ऑक्सा इड सघनता सर्वोत्तम के साथ तुलनीय है। क्षमता उपयोग, उपलब्धशता आयोजित बंदी के प्राचलों के संबंध में एनटीपीसी विद्युत केंद्रों का निष्पाुदन उन वैश्विक उपयोगिताओं की तुलना में बेहतर पाया गया है जो नार्थ अमेरिकन इलेक्ट्रिक रियालबिलिटी कॉर्पोरेशन के सदस्य है जो विश्वे भर में 5000 यूनिटों के डेटाबेस का अनुरक्षण करती है।

परियोजनाओं का वास्तअविक समय वेब आधारित निगरानी, ईंधन संवहन की निगरानी करने के लिए नियंत्रण कक्ष, एनटीपीसी इनर्जी टेक्नोेलोजी रिसर्च एलांइस (नेत्रा) तथा विद्युत दक्षता एवं पर्यावरण संरक्षण केंद्र (सेनपीप) के माध्यनम से दक्षता सुधार, परियोजना संपूर्ति चक्र का अपचयन तथा सभी एनटीपीसी परियोजनाओं में ऑनलाइन कार्बन डाई ऑक्सााइड निगरानी उपकरण ऐसे अन्यस क्षेत्र थे जिनमें वर्ष 2017 तक 75000 मेगावॉट की कंपनी बनने के अपने लक्ष्य‍ को प्राप्तप करने के साथ साथ कंपनी की प्रतिबद्धता है।

श्री शर्मा ने अपने अभिभाषण में कंपनी की उपलब्धियों पहलों तथा भावी कार्यनीतियों का वर्णन किया। उन्हों1ने अनमोल रत्न के छठे अंक का विमोचन किया जो नैतिक कथाओं के माध्यिम से जीवन मूल्यों को अपनाने के लिए प्रेरक लघु कहानियों का एक संग्रह है।

एनटीपीसी के 34वें स्थाएपना दिवस समारोह पर एनटीपीसी के अध्याक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री आर एस शर्मा के साथ एनटीपीसी की शीर्ष प्रबंधन टीम श्री श्री आर के जैन, निदेशक (तकनीकी), श्री ए के सिंघल, निदेशक (वित्त), श्री आर सी श्रीवास्तकव, निदेशक (मानव संसाधन), श्री आई जे कपूर, निदेशक (वाणिज्या) और श्री बी पी सिंह, निदेशक (परियोजना) के साथ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति