मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

अर्थव्‍यवस्‍था में विकास के प्रति आश्‍वस्‍थ विद्युत - ईंधन की अधिक मांग कर रहा है, डा. अरुप रॉय चौधरी, सीएमडी, एनटीपीसी का कथन :

27th अगस्त, 2014

एनटीपीसी ने 5.75 रुपए प्रतिशेयर का कुल लाभांश अदा किया।

प्रत्‍येक परिवार को 24×7 विद्युत उपलब्‍ध कराने का नई सरकार का संदृश्‍य, क्षेत्र के लिए चुनौतियों के बीच द्रुत विकास अवसरों में बदल गया है। कोयला, विद्युत एवं नवीकरणीय ऊर्जा को एक मंत्री के अधीन रखने का निर्णय भी एकीकृत ऊर्जा दृष्टिकोण प्रदान करता है, सभी संभावित स्रोतों के दोहन पर दृढ़ फोकस भी आपकी कम्‍पनी के लिए नये व्‍यावसायिक अवसर खोलता है। नई दिल्‍ली में आयोजित कम्‍पनी की 38वीं वार्षिक आम बैठक में शेयरधारकों को संबोधित करते हुए डा. अरुप रॉय चौधरी, सीएमडी, एनटीपीसी ने यह विचार व्‍यक्‍त किया। कम्‍पनी के सभी कार्यात्‍मक एवं स्‍वतंत्र निदेशक इस अवसर पर उपस्थित थे।

Confident of growth in the economy

कम्‍पनी के निष्‍पादन के बारे में बोलते हुए उन्‍होंने कहा कि वर्ष के दौरान कम्‍पनी ने 43,000 मेगावाट क्षमता को पार किया और वर्तमान संस्‍थापित क्षमता 43,128 मेगावाट है। वित्तीय वर्ष 2013-14 के दौरान 1,835 मेगावाट नई क्षमता को शामिल किया गया था। एनटीपीसी ने 4,150 मेगावाट क्षमता का कार्य अवार्ड कर दिया है और वर्ष के दौरान 20,200 करोड़ रुपए के कैपेक्‍स लक्ष्‍य से अधिक है।

आपने अंशधारकों को यह भी बताया कि कम्‍पनी के कैपेक्‍स में 2011-12 से निरन्‍तर रूप में वृद्धि हो रही है, जो 2013-14 में लगभग 7.5% तक के लक्ष्‍यों से अधिक के आपवादिक एवं अभूतपूर्व साहस के साथ है। समायोजित लाभ जो 16.44% तक की वृद्धि दर्शाता है जो अब 10,562 करोड़ रुपए है और 8.5% तक की कुल आय वृद्धि, जो अब 74,708 करोड़ रुपए है। एजीएम के दौरान शेयरधारकों ने वर्ष हेतु 5.75 रुपए प्रति शेयर के कुल लाभांश की सहमति दी।

विद्युत क्षेत्र के विकास के संबंध में, उन्‍होंने कहा वर्तमान में विश्‍व में सबसे कम भारत की 917.18 केब्‍डल्‍यूएच की वार्षिक प्रति व्‍यक्ति विद्युत खपत है, जो ब्रिक्‍स राष्‍ट्रों में सबसे कम है। मांग, आपूर्ति और खपत की दिशा व स्‍तर क्षेत्र के विकास की कुंजी होगी। उन्‍होंने कहा मुझे विश्‍वास है कि आने वाला समय विद्युत के लिए ईंधन की अधिक मांग करते हुए अर्थव्‍यवस्‍था में विकास को देखेगा।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति