मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी के निदेशक, वित्त को सी एम ए - सी एफ ओ पुरस्कार

20th मई, 2014

CFO Award for NTPC Director Finance

भारतीय लागत लेखाकार संस्थान (ICAI) द्वारा एनटीपीसी के निदेशक (वित्त), श्री के. बिसवाल, को कार्य स्थल में अभिनव लागत और प्रबंधन लेखांकन तकनीक के इस्तेमाल के लिए उनके द्वारा किए गए प्रयासों को क्षेत्र (विनिर्माण) श्रेणी में सी एम ए - सी एफ ओ एवार्ड से सम्मानित किया गया है।

यह भारतीय लागत लेखाकार संस्थान द्वारा नई दिल्ली में इसके 56वें स्थापना दिवस के दौरान एवार्ड प्रदान किया गया। उच्चतम न्यायालय के माननीय न्यायमूर्ति श्री दीपक मिश्रा ने श्री बिस्वाल को यह सम्मान प्रदान किया। सुश्री जे. एम. शांति सुंदरम, भारतीय राजस्व सेवा, अध्यक्ष, केन्द्रीय उत्पाद शुल्क एवं सीमा शुल्क बोर्ड, वित्त मंत्रालय तथा श्री एस. सी. मोहंती, अध्यक्ष, आई सी ए आई इस अवसर पर उप-स्थित थे।

श्री बिसवाल 49 वर्ष की कम उम्र में महानदी कोल फील्ड्स लिमिटेड के निदेशक (वित्त) बने। कंपनी के सी एफ ओ के रूप में वे एक 'मूल्य सृजनकर्ता' बनने में विश्वास रखते थे जो सी ई ओ के साथ रणनीतिक व्यापार भागीदार के रूप में काम करता है। इस सिद्धांत का पालन करते हुए, एम सी एल में 38 महीनों के अपने संक्षिप्त कार्यकाल के दौरान उन्होंने रणनीतिक रूप से कोयला उत्पादन से परे विविधीकरण के लिए जरूरत की वकालत की और कोयला खान के पास तापीय विद्युत उत्पादन संयंत्र की स्थापना के लिए महानदी बेसिन पावर लिमिटेड के गठन और अधिशेष निधि के लाभकारी अविनियोजन तथा राज्य में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए नीलांचल विद्युत पारेषण कंपनी लिमिटेड को पारेषण व्यवसाय करने में नेतृत्व किया।

बिसवाल ने व्यक्तिगत , व्यावसायिक के साथ ही व्यापार के स्तर पर अपने नेतृत्व को साबित किया है। कॉर्पोरेट वित्त प्रबंधन, विशेष रूप से कोयला क्षेत्र में सी एफ ओ एम सी एल और विद्युत क्षेत्र में सी एफ ओ सी ई आर सी के रूप में 28 वर्षों के उनके समृद्ध और विविध अनुभव ने उनको निदेशक (वित्त), एनटीपीसी लिमिटेड, भारत सरकार की महारत्न कंपनी का कार्यभार ग्रहण करने में सक्षम बनाया है।

एनटीपीसी में भी, कार्य भार ग्रहण करने के 6 महीने की अवधि में ही उन्होंने कोल इंडिया लिमिटेड के साथ काफी समय से लंबित विवादों को हल करने, वित्त वर्ष 14 में 21,705 करोड़ रू. का पूंजीगत व्यय करके एनटीपीसी के लिए महत्वाकांक्षी पूंजीगत व्यय लक्ष्य को प्राप्त करने, 2250 करोड़ रू. की राशि का कर मुक्त बंधपत्र जुटाने, 350 अमरीकी डालर की विदेशी मुद्रा ॠण जुटाने और तंग निर्धारित समय सीमा के भीतर वित्त वर्ष 2014 के लिए एनटीपीसी के खातों का समापन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

​बिसवाल, अपने अंतर व्यक्तिगत कौशल के साथ, सबसे अच्छे दीर्घकालिक परिणाम सामने लाने के लिए जो भी करना पड़े उसके लिए अदम्य दृढ़ संकल्प का प्रदर्शन करते हुए और अपने योगदान के लिए उनकी टीम को प्रेरणा और कंपनी के विकास एवं उन्नति के लिए एक केंदित नेतृत्व बन गए हैं।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति