मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी का विकास बढ़ाने के लिए बैकवर्ड तथा फारवर्ड इंटीग्रेशन

07th नवम्बर, 2014

संस्‍थ‍ान को असाधारण ऊंचाईयों पर ले जाने में, कर्मचारियों के प्रयासों की सराहना करते हुए एनटीपीसी के सीएमडी डॉ. अरुप राय चौधरी, ने कहा है कि संगठन को समृद्ध बनाने और आने वाले वर्षों में प्रासंगिक बने रहने के लिए एनटीपीसी में प्रतिमान बदलाव के लिए समय आ गया है। आप गत 7 नवम्‍बर, 2014 को कंपनी के 39वें स्‍थापना दिवस के अवसर पर सभी प्रोजेक्‍टस में स्थित कर्मचारियों को सम्‍बोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि भविष्‍य में कम्‍पनी के विकास के लिए मूल नियमित क्षमता में वृद्धि के साथ देश में सबसे बड़े उत्‍पादक के रूप में अपनी स्थिति बनाए रखने के लिए अग्र और पश्‍च एकीकरण में निहित है। उन्‍होंने कहा कि कोयला खनन और विद्युत का वितरण ईंधन की जरूरतों को पूरा करने और आगामी वर्षों में विद्युत की बिक्री में मदद करेंगे।

Backward and Forward Integration to power NTPC's Growth

इस अवसर पर सीएमडी के साथ कम्‍पनी के सभी पूर्णकालिक निदेशक उपस्थित थे।

डॉ. राय चौधरी ने विद्युत क्षेत्र को मजबूत करने के लिए हाल ही में शुरू किए गए सभी उपायों में एनटीपीसी को एक अभिन्‍न अंग बनाने के लिए सरकार और केन्‍द्रीय विद्युत मंत्री को धन्‍यवाद दिया।

आपने डिजाइन, अनुसंधान और विकास के क्षेत्र में अग्रगामी के रूप में नेतृत्‍व करने के लिए एनटीपीसी के इंजीनियरों को प्रोत्‍साहित किया तथा नई कुशल प्रौयोगिकियों के माध्‍यम से नवीन होने की जरूरत पर बल दिया, जो कम्‍पनी के कार्बन पाद चिन्‍ह को कम करने में सहायता देने के लिए ईंधन कुशल हैं। उन्‍होंने कहा कि उन्‍नत सुपर सूक्ष्‍म प्रौद्योगिकी हमारे दरवाजे पर दस्‍तक दे रही है और हमें इसको क्रियान्वित करने में अग्रणी रहना चाहिए।

अपने सम्‍बोधन में उन्‍होंने यह भी उल्‍लेख किया कि एनटीपीसी इसकी थोक निविदा स्‍कीम, ''भारत में बनाओ'' द्वारा देश में विनिमार्ण को प्रोत्‍साहित करने के सरकार के दृष्टिकोण के अनुरूप है, के साथ भारत में सभी प्रमुख विद्युत उपकरण निर्माताओं को लाने में सहायक रही है।".


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति