मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी का 10वां विश्लेषक एवं निवेशक सम्मेलन

11th अगस्त, 2014

एनटीपीसी ने मुंबई में अपना 10वां विश्लेषक एवं निवेशक सम्मेालन आयोजित किया। अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, एनटीपीसी डॉ. अरुप रॉय चौधरी, द्वारा सम्मेिलन संबोधित किया गया, जिसमें उन्होंने कंपनी की वर्तमान स्थिाति एवं भावी योजनाओं के बारे में चर्चा की। निदेशक (वित्त), एनटीपीसी श्री के. बिश्वाल, ने एनटीपीसी की सफलता एवं वित्तीय सुदृढ़ता पर एक प्रस्तुितीकरण किया।

श्री एन. एन. मिश्रा, निदेशक (प्रचालन), श्री ए. के. झा, निदेशक (तकनीकी), श्री यू. पी. पाणी, निदेशक (मानव संसाधन) और श्री एस. सी. पांडे, निदेशक (परियोजना) इस अवसर पर उपस्थित थे और उन्होंने विश्लेषकों एवं निवेशकों के साथ आपसी बातचीत की।

वित्तीय वर्ष 2014-15 में कंपनी की पहली तिमाही में अलेख परीक्षित कुल आय 18,885.14 करोड़ रुपए है, जबकि पूर्ववर्ती वर्ष में तदनुरूपी तिमाही में 16,391 करोड़ रुपए बताई गई थी, जो तिमाही-दर-तिमाही आधार पर 15.22 प्रतिशत की वृद्धि को दर्ज करता है।

कंपनी का सकल विद्युत उत्पाादन पूर्ववर्ती तदनुरूपी तिमाही के 57.005 बिलियन यूनिट से बढ़कर 63.133 बिलियन यूनिट हो गया, जो 10.75 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है। एनटीपीसी लिमिटेड के कोयला स्टेशन 84.29 प्रतिशत के पीएलएफ पर प्रचालित हुए, जो पूर्ववर्ती तदनुरूपी तिमाही में 5.17 प्रतिशत की वृद्धि को दर्शाता है।

एनटीपीसी ने वित्तीय वर्ष 2013-14 के दौरान 21797.24 करोड़ रुपए (लाजवाब) रिकार्ड उच्चीतम केपेक्सी को प्राप्त किया जबकि वर्ष 2012-13 के दौरान यह 19925.53 करोड़ रुपए था। एनटीपीसी ग्रुप ने वित्तीय वर्ष 2013-14 के दौरान 25769 करोड़ रुपए की उच्चतम पूंजीकरण (केपेक्सी) सीमा को स्पर्श किया है। जबकि वर्ष 2012-13 के दौरान यह 25299 करोड़ रुपए था।

एनटीपीसी की संस्थापित क्षमता 43128 मेगावाट की है, तथा वर्तमान में 22414 मेगावाट से अधिक की विविध परियोजना समूहों में कार्य कर रही है, तथा यह निर्माण के विभिन्न स्तरों में हैं।

Investors Meet

शीर्षक: एनटीपीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, डॉ. अरुप रॉय चौधरी, मुंबई में आयोजित कंपनी के 10वें विश्लेषक और निवेशक सम्मेलन में श्री एन. एन. मिश्रा, निदेशक (प्रचालन), श्री ए. के. झा, निदेशक (तकनीकी), श्री यू. पी. पाणी, निदेशक (मानव संसाधन), श्री एस. सी. पांडे, निदेशक (परियोजना) और श्री के. बिश्वाल, निदेशक (वित्त) के साथ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति