मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

माली गणराज्य ने 500 मेगावॉट का सौर ऊर्जा पार्क विकसित करने के लिए एनटीपीसी को परियोजना प्रबंधन परामर्श का ठेका दिया

24th जून, 2020

24 जून, 2020 को आयोजित समारोह में, माननीय विद्युत, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा, कौशल विकास राज्य मंत्री तथा अध्यक्ष, अन्तर्राष्ट्रीय सौर सहयोग (आईएसए), श्री आर.के. सिंह और माली के माननीय राजदूत एच.ई. सेकोउ कास्से ने एनटीपीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, श्री गुरदीप सिंह को माली गणराज्य में 500 मेगावॉट का सौर ऊर्जा पार्क विकसित करने हेतु परियोजना प्रबंधन परामर्श का ठेका प्रदान करने का पत्र सौंपा।

आईएसए भारत में स्थित, एक अन्तर्राष्ट्रीय, अन्तर-सरकारी संगठन है जिसे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व और भविष्यदृष्टी के अनुसार गठित किया गया है और इसकी घोषणा 2015 में पेरिस में आयोजित सीओपी21 के दौरान फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ संयुक्त रूप से की थी। आईएसए की भविष्यदृष्टी सौर ऊर्जा के क्षेत्र में बड़े पैमाने का परिवर्तन करने पर टिकी है, जो एक ऐसे सुविधाकारक अन्तर्राष्ट्रीय वातावरण पर आधारित है जो वैज्ञानिक और आर्थिक संसाधनों तक पहुंच दिलाए, प्रौद्योगिकी एवं पूंजी की लागत को घटाए, कीमतों में कमी करने में सहायक हो और स्टोरेज प्रौद्योगिकी तथा नवाचार के विकास को संभव बनाए। विभिन्न देशों की अर्थव्यवस्थाओं में ऊर्जा क्षेत्र में परिवर्तनकारी अवसरों की विशेषज्ञतापूर्ण समझ और अपने बड़े पैमाने के कारण, आईएसए ऊर्जा की किल्लत से ऊर्जा सशक्तिकरण की ओर परिवर्तन को संभव बनाने में विश्व का अग्रणी ऊर्जा संक्रान्तिकारक है।

यह कार्यक्रम, आईएसए द्वारा नई दिल्ली में नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय में आयोजित किया गया और महानिदेशक आईएसए – एच. ई. उपेन्द्र त्रिपाठी, सचिव (विद्युत) – श्री संजीव नंदन सहाय, सचिव (एमएनआरई)- श्री इन्दु शेखर चतुर्वेदी, सचिव (आर्थिक संबंध) श्री राहुल छाबड़ा और अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

माली गणराज्य ने अपने देश की ऊर्जा सुरक्षा के लिए, विशेषकर अपने नागरिकों के लिए विद्युत की उपलब्धता को बढ़ाने हेतु, सौर ऊर्जा तथा इसके अनुप्रयोगों पर ध्यान केन्द्रित करते हुए, अनेक पहल की हैं। माली में सौर ऊर्जा परियोजनाओं के विकसित किए जाने से माली के सामाजिक-आर्थिक विकास पर बहुत बड़ा असर पड़ेगा।

भारत सरकार के एक उद्यम और 62,110 मेगावॉट की स्थापित क्षमता वाली एक अग्रणी वैश्विक विद्युत कम्पनी, एनटीपीसी को सौर ऊर्जा परियोजनाओं को स्थापित करने और भारत में राष्ट्रीय सौर ऊर्जा मिशन जैसे विभिन्न सौर ऊर्जा कार्यक्रमों के व्यवस्थापन का विस्तृत अनुभव है। 2019 में, आईएसए ने एनटीपीसी को एक प्रतिस्पृधात्मक प्रक्रिया के माध्यम से एक परियोजना प्रबंधन परामर्शक के रूप में एनटीपीसी की सेवाओं का लाभ सदस्य देशों के द्वारा उठाए जाने हेतु अनुमोदित किया था। इसके पूर्व टोगो गणराज्य ने टोगो में 285 मेगावॉट का सौर ऊर्जा पार्क विकसित करने हेतु इसी के समान पीएमसी सहायता के लिए एनटीपीसी को काम सौंपा था। एनटीपीसी की योजना अगले दो वर्षों में आईएसए सदस्य देशों में 10,000 मेगावॉट के सौर ऊर्जा पार्कों को लगाने की है।

सौर ऊर्जा पार्कों को भारत में अपनाए गए एक सर्वोत्तम कार्य के तौर पर प्रदर्शित किया जा रहा है जिन्हें एक अभिनव अवधारणा के रूप में शुरु किया गया था और अनेक परियोजनाओं को कार्यार्पित किया गया है, इस प्रकार से इस प्रक्रिया में सौर ऊर्जा की लागत में अत्यधिक कमी लाई गई, निवेश में वृद्धि की गई, रोजगार सृजित किया गया और वातावरण में गुणात्मक सुधार हुआ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति