मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने एनटीपीसी की दुलंगा कोयला खान राष्ट्र को समर्पित की

22nd सितम्बर, 2018

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 22 सितम्बर, 2018 को ओडिशा के झारसुगुडा में एनटीपीसी की पहली कोयला खान, दुलंगा कोयला खान राष्ट्र को समर्पित की गई। जिला सुन्दरगढ़, ओडिशा में स्थित यह कोयला खान एनटीपीसी के 2x800 मेगावाट दर्लीपाली सुपर थर्मल पावर प्लांट की ईंधन आवश्यकता को पूरा करने के लिए भारत सरकार द्वारा आवंटित की गई है। दुलंगा खान में ब्लॉक एरिया 6.54 वर्ग किमी. भूगर्भीय रिजर्व 196 एमएमटी और खनन योग्य रिवर्ज 152 एमएमटी तथा उच्चतम उत्पादन क्षमता 7 एमएमटीपीए है।

समारोह में ओडिशा के राज्यपाल प्रो. गणेशी लाल, मुख्यमंत्री, ओडिशा श्री नवीन पटनायक; केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग तथा नागरिक उड्डयन मंत्री, श्री सुरेश प्रभु; केन्द्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री, श्री धर्मेन्द्र प्रधान; केन्द्रीय जनजातीय मामलो के मंत्री, श्री जुएल ओरांव तथा ओडिशा के अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। इस अवसर पर एनटीपीसी के सीएमडी श्री गुरदीप सिंह, निदेशक (तकनीकी) श्री पी.के. मोहपात्रा, आरईडी, ईआर-2 श्री एम.पी. सिन्हा भी उपस्थित थे।

ओडिशा के जिला अंगुल में एनटीपीसी के पास वर्तमान में 3000 मेगावाट की क्षमता वाला तालचर सुपर थर्मल प्लांट एवं 460 मेगावाट की क्षमता वाला तालचर थर्मल परिचालित पावर स्टेशन हैं।  इसके अलावा, 1600 मेगावाट दर्लीपाली एसटीपीपी निर्माणाधीन है और 1320 मेगावाट (2x660 मेगावाट) तालचर थर्मल पावर प्रोजेक्ट चरण-3 भी प्रक्रिया के अधीन है।

एनटीपीसी भारत की सबसे बड़ी विद्युत कम्पनी है जिसका विज़न ”भारत के विकास को गति देते हुए विश्व की अग्रणी विद्युत कम्पनी बनना है”। एनटीपीसी 53 जीडब्ल्यू से अधिक संस्थापित क्षमता के साथ विश्व के सबसे बड़े विद्युत उत्पादकों में से एक है। कम्पनी अपने नवीकरणीय पोर्टफोलियो में विस्तार द्वारा 24x7 सभी के लिए वहनीय ऊर्जा के भारत के सपने को साकार करने की दिशा में आगे बढ़ रही है।

एनटीपीसी विद्युत उत्पादन के पांच क्षेत्रों अर्थात् कोयला आधारित, गैस आधारित, हाइड्रो, सोलर, विन्ड में कार्यरत है और नई पहल के रूप  में इलेक्ट्रिक वाहन इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास की दिशा में भी अग्रसर है।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति