मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

निपको, टीएचडीसीआईएल के अधिग्रहण के साथ ही एनटीपीसी की स्थापित क्षमता 62,000 मेगावाट को पार कर गई है

28th मार्च, 2020

कुल स्थापित क्षमता में 13% की वृद्धि के साथ ही वित्‍तीय वर्ष 20 की समाप्ति पर एनटीपीसी सबसे बड़ा विद्युत उत्पादक है।

एनटीपीसी ने अपने हाइड्रो पोर्टफोलियो को 2,625 मेगावाट तक बढ़ाया है।

नई दिल्ली, 28 मार्च 2020: भारत के सबसे बड़े विद्युत उत्‍पादक, एनटीपीसी लिमिटेड ने आज घोषणा की है कि उत्तर-पूर्वी इलेक्ट्रिक पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड (निपको) और टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड (टीएचडीसीआईएल) में हिस्सेदारी के अधिग्रहण के बाद समूह स्तर पर इसकी कुल स्थापित क्षमता 62,110 मेगावाट हो गई है।

दोनों का अधिग्रहण पूरा होने के साथ ही, एनटीपीसी समूह ने 31 मार्च को समाप्त होने वाले वर्तमान वित्त वर्ष के दौरान क्षमता में लगभग 13% की वृद्धि की है। मार्च 2019 के अंत में, एनटीपीसी की कुल क्षमता 55,126 मेगावाट है।

एनटीपीसी लिमिटेड का समग्र हाइड्रो पोर्टफोलियो 3,425 मेगावाट तक पहुंच गया है। इसके अलावा, भारत के सबसे बड़े विद्युत उत्पादक की क्षमता में समग्र रूप से निपको की 1,757 मेगावाट और टीएचडीसीआईएल की 1,537 मेगावाट क्षमता शामिल है, जिसमें जल, पवन, गैस और सौर परियोजनाओं की क्षमता में वृद्धि शामिल है।

एनटीपीसी समूह की कुल स्थापित और व्यावसायिक क्षमता अब क्रमशः 62110 मेगावाट और 61126 मेगावाट है। एनटीपीसी समूह की वर्तमान स्थापित क्षमता में एनटीपीसी के 45 स्टेशन अर्थात 24 कोयला आधारित, 7 संयुक्त चक्रीय गैस/तरल ईंधन, 1 हाइड्रो, 13 नवीकरणीय और 25 जेवी और सहायक स्टेशन अर्थात 9 कोयला, 4 गैस/तरल ईंधन, 8 हाइड्रो, 4 नवीकरणीय परियोजनाएं शामिल हैं।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति