मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

देश में सभी लोगों तक बिजली की पहुंच

13th फ़रवरी, 2019

इंडियन पावर स्टेशन्स 2019 ने एनटीपीसी लिमिटेड द्वारा प्रचालनों के 36 वर्षों का उत्सव मनाया गया

रायपुर, 13 फरवरी, 2019 - केन्द्रीय विद्युत मंत्री, श्री आर. के. सिंह ने कहा कि "विद्युत क्षेत्र में तेजी से मांग बढ़ रही है और आगे भविष्य में इसमें और बढ़ोत्तरी होने का अनुमान है। वर्तमान खपत 1200 यूनिट प्रति व्यक्ति अंतर्राष्ट्रीय खपत के समतुल्य 2-3 गुना बढ़ने का अनुमान है जिसके बाद देश के प्रत्येक व्यक्ति के पास बिजली की पहुंच होगी"।

श्री आर के सिंह एनटीपीसी द्वारा हर वर्ष आयोजित अंतर्राष्ट्रीय प्रचालन एवं रखरखाव सम्मेलन के अवसर पर इंडियन पावर स्टेशन्स 2019 को संबोधित कर रहे थे।

विद्युत क्षेत्र में वित्तपोषण की उपलब्धता कमी जैसे मुद्दों के बारे में बोलते हुए श्री आर के सिंह ने "डिस्कॉम एवं अंतिम उपभोक्ताओं दोनों से बिजली के उपभोग के लिए पूर्व-भुगतान, प्रक्रिया को बाजार केन्द्रित बनाने के लिए वितरण कंपनियों का निजीकरण जैसे उपाय" करने का सुझाव दिया।

सम्मेलन के आठवें संस्करण में 500 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया और यह 13 फरवरी, 1982 को एनटीपीसी के फ्लैगशिप सिंगरौली पावर स्टेशन के सिंक्रोनाइजेंशन के साथ मेल खाता है।

श्री सिंह ने कहा कि हमें उपलब्ध सभी ऊर्जा स्रोतों का कुशलता से उपयोग करने और निरंतर बढ़ती हुई मांग को पूरा करने हेतु अपने ऊर्जा भंडारण को बढ़ाने की जरूरत है। इसी तरह, प्रचालन के क्षेत्र में भी विद्युत संयंत्रों के किसी भी अनुसचित रखखाव को स्थगित करना और संयंत्रों के संचालन में विद्युत मांग का दबाव बनाना तर्कसंगत नहीं है।

उन्होंने आगे कहा कि देश में विद्युत उत्पादन और वितरण के विस्तार के लिए सरकार द्वारा चलाई जा रही पहलें जैसे सौभाग्य योजना और बिजली आपूर्ति के लचीलेपन के साथ, वर्ष 2030 तक गैर-जीवाश्म ईधनों के माध्यम से 40 प्रतिशत विद्युत आवश्यकता को पूरा करने के सरकार के दिशा निर्देश प्रक्रियाधीन है।

सरकार ने नवीकरणीय क्षेत्र में 175 जीडब्ल्यू के लक्ष्य पर 98 जीडब्ल्यू ऊर्जा आवश्यकता को पहले ही कमीशन कर पूर्ण कर लिया है। इसी प्रकार, उन्होंने कहा कि सुरक्षा, पर्यावरण संधारणीयता, विश्वसनीयता और कुशलता पर ध्यान देना आज कंपनियों की तात्कालिक जरूरत बन गया है।

केन्द्रीय विद्युत सचिव श्री ए. के. भल्ला ने कहा कि "हमें सोलर, विन्ड और नवीकरणीय ऊर्जा के अन्य स्रोतों के विकास पर अधिक ध्यान देते हुए हरित कम्पनी बनने के लिए एनटीपीसी द्वारा किये गये प्रयासों की सराहना करनी चाहिए"। इसके साथ ही फ्लाई ऐश उपयोग और जल संरक्षण की दिशा में उपयोग की जा रही बेहतर प्रक्रियाएं और नवोन्मेष जैसी पहलों ने भी इस प्रक्रिया को और गति दी है।

श्री भल्ला ने आगे कहा कि "2030 पेरिस जलवायु समझौते की प्रतिबद्धताओं के अनुरूप उत्सर्जन की जांच एवं कमी तथा कुशल पद्धतियों के माध्यम से विद्युत के उपभोग को सुनिश्चित करना अनिवार्य है"।

एनटीपीसी लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री गुरदीप सिंह ने कहा कि "हम नवीनतम प्रौद्योगिकियों एवं बेहतर प्रक्रियाओं को अपनाकर सुरक्षित, हरित एवं अधिक विश्वसनीय एवं किफायती माध्यम से ऊर्जा के कुशल उपयोग के लिए प्रयासरत है। हम अपने प्रचालनों के माध्यम से क्षेत्र में नये कीर्तिमान हासिल करने में सफल रहे हैं जिसने हमें 15 प्रतिशत संस्थापित क्षमता के माध्यम से देश की 24 प्रतिशत विद्युत आवश्यकता को पूरा करने में सहायता की है"।

निदेशक (प्रचालन) एनटीपीसी लिमिटेड श्री प्रकाश तिवारी ने कहा कि "नवीनीकरण ऊर्जा में तेजी से विकास के साथ बेस लोड स्टेशनों को उत्पादन में लचीलापन और कड़े पर्यावरण मापदंडों को अपनाने की जरूरत है। आईपीएस 2019 इन चुनौतियों का समाधान करेगा और इनसे निपटने के लिए सर्वोत्तम प्रचालन एवं रखरखाव विकसित करेगा"।

सुरक्षित, विश्वसनीय, पर्यावरण-हितैषी विद्युत उत्पादन की थीम के साथ सम्मेलन में राज्य स्वामित्व एवं निजी क्षेत्र दोनों ही विद्युत उत्पादक एवं यूटिलिटी कंपनियों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया। रायपुर, छत्तीसगढ़ में आयोजित दो-दिवसीय सम्मेलन के दौरान क्षेत्र से संबंधित मुद्दों पर प्रस्तुत किये गये 11 अंतर्राष्ट्रीय पेपर एवं 71 घरेलू पेपर पर चर्चा की गई।

इस अवसर पर एनटीपीसी संधारणीयता रिपोर्ट और सारांश ”नियर मिस ट्रिप्स, असाधारण ट्रिप्स एवं किये गये संशोधनों की सार-संग्रह के साथ नेत्रा (एनटीपीसी एनर्जी टेक्नोलॉजी रिसर्च एलायंस) द्वारा जल शोधन के लिए तकनीकी प्रगति पर ई-बुक का विमोचन किया गया। सम्मेलन में क्षेत्र से जुड़े मुद्दों और विद्युत उत्पादन एवं वितरण के कुशल उपयोग को सुनिश्चित करने के लिए सामूहिक योजनागत समाधानों की जरूरत पर विशेष जोर दिया गया।

इस अवसर पर 42 भारतीय एवं अंतर्राष्ट्रीय विनिर्माताओं के उत्पादों एवं तकनीकों को प्रदर्शित करती टेक्नो गैलेक्सी प्रदर्शनी 2019 भी आयोजन किया गया।

 


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति