मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

ऐश उपयोग के लिए एनटीपीसी मेगा प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया

14th फ़रवरी, 2019

 

सुरक्षित, विश्वसनीय एवं पर्यावरण-हितैषी विद्युत उत्पादन को प्रोत्साहित करने एवं बढ़ावा देने के अपने प्रयास में, एनटीपीसी ने ऐश के उपयोग पर एक राष्ट्रव्यापी मेगा प्रतियोगिता का आयोजन किया। 100 प्रतिशत ऐश उपयोग को हासिल करने के लिए अपने विशिष्ट सुझाव देने वाले विजेताओं को रायपुर में आईपीएस 2019 के दौरान पुरस्कार वितरण समारोह में केन्द्रीय विद्युत और नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री आर.के. सिंह द्वारा सम्मानित किया गया।

विजेताओं - श्री एन. कालीदास ने रु. 5 लाख का प्रथम पुरस्कार (व्यक्तिगत श्रेणी) जीता, उसके बाद डॉ. एस. वी. पटनाकर (अनुसंधानकर्ता) और श्री कालीदोस सुब्रमणियम और श्री टी. थंगापांडी (टीम) ने क्रमशः दूसरा (रु. 3 लाख) और तीसरा (रु. 2 लाख) का पुरस्कार जीता। अन्य विजेताओं में डॉ. काली संजय ने रु. 1 लाख का सांत्वना पुरस्कार, डॉ. जसवंत सिंह बूमरा ने रु. 1 लाख का सांत्वना पुरस्कार प्राप्त किया। श्री बी. रामामोहन रेड्डी, श्री अजित कुमार भोसले और सुश्री एम. एश्वर्या ने प्रशंसा प्रमाणपत्र प्राप्त किया।

आम जनता से 100 प्रतिशत ऐश उपयोग का हासिल करने के लिए प्रायोगिक, आर्थिक रूप से व्यवहार्य एवं कार्यान्वयन योग्य सुझाव प्राप्त करने के उद्देश्य से, एनटीपीसी ने 1 दिसम्बर, 2018 से 24 दिसम्बर, 2018 तक मेगा ऐश उपयोग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। प्रतियोगिता में बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया और एनटीपीसी में आम जनता से प्राप्त कुल 713 वैध विचार जमा किये गये थे। विशेषज्ञ समिति द्वारा प्रविष्टियों की जांच की गई  और पहले स्तर पर 20 टीमों को पहले स्तर के लिए संक्षिप्त सूचीबद्ध किया गया था।

चयनित 20 टीमों/व्यक्तियों ने, व नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी.के. सरस्वत, सीईए के पूर्व अध्यक्ष  श्री ए एस बक्शी, और पूर्व निदेशक (तकनीकी), एनटीपीसी श्री ए के झा की विशेषज्ञ समिति के समक्ष अपने विचार प्रस्तुत किये और अपने मॉडयूल का प्रदर्शन किया था।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति