मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी भारत के सबसे बड़े विद्युत उत्पादक ने 7वें पावर एंड एनर्जी अफ्रीका 2018 में अपनी क्षमता एवं अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय को प्रदर्शित करते हुए भारत की विद्युत क्षमता का प्रदर्शन किया

01st जून, 2018

एनटीपीसी, 53,651 मेगावाट की संस्थापित क्षमता के साथ भारत की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादक कम्पनी जिसकी वर्ष 2032 तक 130 जीडब्ल्यू कम्पनी बनने की योजना है, ने 29-31 मई, 2018 को केआईसीसी, नैरोबी, कीनिया में पावर एंड एनर्जी 2018 पर तीन दिवसीय प्रदर्शनी-सह-बैठक में भारत की हरित ऊर्जा को प्रदर्शित किया।

वैश्विक स्तर पर अग्रणी विद्युत कंपनियों में से एक, एनटीपीसी ने किसी भी आकार एवं प्रकार की हरित विद्युत परियोजनाओं के निष्पादन के लिए अपनी दक्षता एवं तकनीकी ज्ञान का प्रदर्शन किया। एनटीपीसी ने तकनीकी नवोन्मेषों जैसे ड्राई ऍश निपटान प्रणाली, जीरो लिक्विड डिस्चार्ज सिस्टम, एयर-कूल्ड कंडेंसर तकनीक में किये गये अपने महत्वपूर्ण कार्य को भी प्रदर्शित किया जिसने विद्युत संयंत्रों की कार्यकुशलता में सुधार और नवीनीकरण एवं आधुनिकीकरण द्वारा कुछ पुरानी विद्युत परियोजनाओं को चालू करने में सहायता की।

पावर एंड एनर्जी सम्मेलन का उद्घाटन प्रख्यात अतिथि श्री मार्टिन मवाईसेनेकहया, ओजीडब्ल्यू, सचिव, पेट्रोलियम, एनर्जी एवं पेट्रोलियम मंत्रालय, स्टेट डिपार्टमेंट ऑफ पेट्रोलियम, कीनिया द्वारा किया गया। इस अवसर पर कीनिया में भारतीय उच्चायुक्त सुश्री सुचित्रा दुरई के साथ एनर्जी एवं पेट्रोलियम, कीनिया सरकार एवं एनटीपीसी के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

प्रदर्शनी जो कि तीन व्यवसाय दिवसों के लिए आयोजित की गई थी, में विश्वभर के 11 से अधिक देशों एवं 22 प्रदर्शनीकर्ताओं ने भाग लिया और व्यवसाय के लेनदेन सहित विद्युत क्षेत्र के भीतर नवीनतम प्रौद्योगिकी प्रवृत्तियों एवं तकनीकों के बारे में जानकारी ली। प्रदर्शनी में नये व्यापार क्षेत्रों में कार्य करने के लिए बेहतर संबंधों पर भी चर्चा की गई। एनटीपीसी के ग्रीन पावर पैवेलियन ने विभिन्न वैश्विक सलाहकारों एवं कंपनियों को अपनी ओर आकर्षित किया और उन्होंने एनटीपीसी के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार अवसरों, विन्ड पावर एवं सौर ऊर्जा उत्पादन तथा नवीनीकरणीय ऊर्जा में क्षेत्र में कम्पनी की प्रतिबद्धता के बारे में जाना।

एनटीपीसी ने कोयला आधारित, गैस आधारित एवं नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं की परिकल्पना से लेकर स्थापना तक, क्षमता निर्माण, पुरानी विद्युत परियोजनाओं के नवीनीकरण एवं आधुनिकीकरण और कार्यकुशलता सुधार से संबंधित अपनी सेवाओं को प्रदर्शित किया।

प्रदर्शनी में विशेषज्ञों से बातचीत, बी2बी बैठकें एवं उद्योग क्षेत्र के मुख्य मुद्दों एवं प्रमुख प्रवृत्तियों पर पैनल चर्चा की गई जिसमें शहरी परिवेश में भविष्य की ऊर्जा एवं परिवहन, नवीकरणीय, डिजिटलीकरण एवं तकनीकी बाधाओं पर बातचीत हुई ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति