मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी ने भारत सरकार के साथ समझौता ज्ञापन 206-17 पर हस्ताक्षर किए

19th जुलाई, 2016

भारत की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादक कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड ने 18 जुलाई 2016 को नई दिल्ली में वर्ष 2016-17 के लिए भारत सरकार के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। इस एमओयू पर विद्युत सचिव श्री प्रदीप कुमार पुजारी तथा एनटीपीसी के सीएमडी श्री गुरदीप सिंह ने हस्ताक्षर किए। हस्ताक्षर किए गए एमओयू के अनुसार एनटीपीसी 'एक्सिलेंट' श्रेणी के तहत इस वर्ष के दौरान 248 बिलियन यूनिट विद्युत उत्पादन का प्रयास करेगा। इसके अलावा एनटीपीसी के पास एक्सिलेंट श्रेणी में 30,000 करोड़ रु. के केपेक्स (सीएपीईएक्स) का लक्ष्य है। उपरोक्त के अलावा सार्वजनिक उद्यम विभाग के एमओयू दिशा-निर्देशों की तर्ज पर प्रचालनगत क्षमता, परियोजनाओं की निगरानी तथा वित्तीय निष्पादन संबंधी पैरामीटर भी इस एमओयू के हिस्से हैं।

समझौता ज्ञापन के हस्ताक्षर कार्यक्रम में अतिरिक्त सचिव (ताप विद्युत, ट्रांसमिशन, ओएम) सुश्री शालिनी प्रसाद, संयुक्त सचिव (आंतरिक वित्त एवं बजटीय नियंत्रण) डॉ. प्रदीप कुमार, विद्युत मंत्रालय के संयुक्त सचिव, थर्मल व हाइड्रो, (सीपीएसयू नामतः एनएचपीसी, एसजेवीएनएल, निपको, टीएचडीसी, जलविद्युत परियोजनाओं के लिए बीबीएमबी से संबंधित पर्यावरणीय प्रबंधन मामले) श्री अनिरुद्ध कुमार तथा एनटीपीसी के निदेशक (तकनीकी) श्री ए.के. झा, निदेशक (परियोजना) श्री एस.सी. पांडे, निदेशक (प्रचालन) श्री के.के. शर्मा, निदेशक (वित्त) श्री के. बिस्वाल तथा सीएमडी के ईडी तथा एनटीपीसी के ईडी (कॉरपोरेट योजनान्वयन एवं कॉरपोरेट संचार) श्री एस. रॉय उपस्थित थे।

एनटीपीसी अपने 18 कोयला-आधारित, 7 गैस-आधारित, 1 जल-आधारित, 9 नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं तथा 9 संयुक्त उपक्रम व सहायक कंपनियों के माध्यम से देश की विद्युत संबंधी जरूरतों को पूरा कर रहा है तथा इसके माध्यम से देश के आर्थिक एवं सामाजिक विकास में सहयोग दे रहा है। कंपनी की कुल वर्तमान संस्थापित क्षमता 47,178 मेगावाट है।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति