मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी ने आरजीसीसीपीपी कायमकुलम, केरल में भारत का सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर पीवी प्लांट संस्थापित किया

10th मार्च, 2017

एनटीपीसी के निदेशक (तकनीकी) श्री ए.के. झा ने राजीव गांधी कम्बाइंड साइकल पावर प्लांट (आरजीसीसीपीपी) कायमकुलम, केरल में 100 केडब्ल्यूपी फ्लोटिंग सोलर पीवी प्लांट जो ‘मेक इन इंडिया‘ पहल के भाग के रूप में घरेलू तौर पर विकसित इस तरह का अब तक का सबसे बड़ा प्लांट है, का शुभांरभ किया। इस अवसर पर क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक (सीएसआर) श्री वी.बी. फडनवीस, कार्यपालक निदेशक (नेत्रा), श्री आर.के. श्रीवास्तव, उपस्थित थे।
यह फ्लोटिंग प्लेटफार्म नेत्रा (एनटीपीसी एनर्जी टेक्नोलॉजी रिसर्च एलायंस), एनटीपीसी की आरएंडडी शाखा, द्वारा सेन्ट्रल इंस्टीटयूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (सीपेट), चेन्नई के सहयोग से घरेलू तौर पर विकसित किया गया है। इसके पेटेंट के लिए आवेदन किया गया है। नेत्रा एवं एनटीपीसी कायमकुलम स्टेशन के सहयोग से स्विलेक्ट एनर्जी सिस्टम्स लि., चेन्नई द्वारा 22 दिनों की संक्षिप्त अवधि में यह सिस्टम संस्थापित किया गया। ऐसे सिस्टम पारंपरिक ग्राउंड माउन्टेड पीवी सिस्टम के तेजी से उभरते विकल्प हैं जो भूमि इंटेंसिव हैं। इसके कई लाभ जैसे वाष्पीकरण की कमी के माध्यम से जल संरक्षण, पैनल पर कूलिंग प्रभाव के कारण उत्पादन में वृद्धि, इंस्टालेशन समय में कमी आदि हैं और इसे खारे पानी पर भी संस्थापित किया जा सकेगा। भारत में इस तरह के सिस्टम की व्यापक इंस्टालेशन क्षमता है क्योंकि यहां कई जलाशय हैं, एनटीपीसी के वर्तमान स्टेशनो में विभिन्न जलाशयों में क्षमता लगभग 800 एमडब्ल्यूपी है। विशेषकर केरल में, जलाशय की उपलब्धता और भूमि की कमी के कारण इस तरह के सिस्टम लगाने की बड़ी क्षमता है। एनटीपीसी ने मेगावाट स्केल इंस्टालेशन पर इस तरह के सिटस्म को बढ़ावा देने का कार्य पहले की प्रारंभ कर दिया है।

« पीछे प्रेस विज्ञप्ति