मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी नेत्रा द्वारा पहली बार, भारत के सबसे उच्चतम तापमान ड्रॉप टयूब रिएक्टर और सोलर थर्मल लैब के फोटोग्रामेट्री सिस्टम को संस्थापित

05th मई, 2017

नेत्रा (एनटीपीसी एनर्जी टेक्नोलॉजी रिसर्च एलायंस) ने अभी हाल ही में भारत में पहली बार घरेलू तौर पर विकसित उच्च तापमान (1500 डिग्री सेल्सियस के लिए डिजाइन किया गया) ड्रॉप टयूब रिएक्टर (डीटीआर) सिस्टम संस्थापित किया है। इस डीटीआर सिस्टम का उपयोग कोयला/बायोमास की ज्वलन विशेषता को जानने और आधुनिक अल्ट्रा सुपर क्रिटिकल टेक्नोलॉजी के डिजाइन तथा जीवाश्म ईंधन प्लांटों से कार्बन उत्सर्जन को कम करने हेतु किया जाता है।

सोलर थर्मल लैब का फोटोग्रामेट्री सिस्टम जर्मन अनुदान के साथ भारत-जर्मन आरएंडडी सहयोग के अंतर्गत नेत्रा में मैसर्स डीएलआर, जर्मनी द्वारा संस्थापित एवं चालू किया गया है। देश में पहली बार स्थापित यह सिस्टम सोलर संकेन्द्रकों के ’प्वाइंट क्लाउड’ के 3डी आकाशीय संयोजन के मापन और इसकी संपूर्णता को समझने में सहायता करता है।

एनटीपीसी विश्व ऊर्जा क्षेत्र की एक अग्रणी कम्पनी के तौर पर अनुसंधान एवं विकास के माध्यम से तकनीकी उन्नयन और आधुनिक तकनीकों के उपयोग की जरूरतों को अच्छी तरह समझती है। कम्पनी विशेष रुप से अनुसंधान एवं विकास के प्रति संवेदनशील है और यह प्रतिमान बदलाव कर सकती है। 2009 में नेत्रा (एनटीपीसी एनर्जी टेक्नोलॉजी रिसर्च एलायंस) की स्थापना,  एनटीपीसी के इसी विजन का परिणाम है। जलवायु परिवर्तन, अपशिष्ट प्रबंधन, कार्बन अभ्रिग्रहण और उपयोग, नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा, कार्यकुशलता सुधार और लागत कटौती नेत्रा में अनुसंधान के मुख्य कार्य क्षेत्र हैं। यह एनटीपीसी एवं अन्य विद्युत यूटिलिटीज़ को उपलब्धता, विश्वसनीयता और कार्यकुशलता में सुधार के लिए वैज्ञानिक सहायता भी प्रदान कर रहा है।
« पीछे प्रेस विज्ञप्ति