मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी के गेट्स एक्‍सपो 2015 की ओर विशेषज्ञ और विनिर्माता आकर्षित

09th नवम्बर, 2015

एनटीपीसी के सीएमडी, श्री ए. के. झा, ने वैश्‍विक ऊर्जा प्रोद्योगिकी शिखर सम्‍मेलन गेट्स एक्‍सपो 2015 का 9 नवंबर को विद्युत प्रबंधन संस्‍थान, नोएडा (पीएमआई) में प्रमुख प्रौद्योगिकी विशेषज्ञों और विनिर्माताओं की उपस्थिति में उदघाटन किया। इस अवसर पर निदेशक (प्रचालन) श्री के. के. शर्मा, और एनटीपीसी के अन्‍य वरिष्‍ठ अधिकारी मौजूद थे। जलवायु परिवर्तन की चिंताओं को दूर करने के लिए नवप्रवर्तनकारी प्रौद्योगिकियों का प्रदर्शन इस एक्‍सपो की मुख्‍य विशेषता थी जो कि जलवायु न्‍याय के प्रति भारत का राष्‍ट्रीय रूप से निर्धारित पहली योगदान के अनुसरण में ‘’स्‍वच्‍छ और हरित ऊर्जा : नई रीति’’ थीम से गेट्स 2015 के दूसरे संस्‍करण की एक कड़ी थी।

गेट्स 2015 का आयोजन ऊर्जा-जलवायु साहचर्य पर विशेष बल के साथ अपेक्षाकृत हरित और स्‍वच्‍छ पर्यावरण के लिए विद्युत उत्‍पादन प्रौद्योगिकियों का संवर्धन करने के लिए किया गया था। शिखर सम्मेलन का आकल्‍पन कोयले के प्रभावी उपयोग, कोयला का हरितकरण, जीवाश्म ईंधन से स्वच्छ ऊर्जा उत्पादन पर ध्यान केंद्रित करने के लिए उत्सर्जन नियंत्रण और जीरो लिक्विड डिस्‍चार्ज से संबंधित विषयों पर थीम आधारित प्रस्तुतियों के साथ किया गया था।

शिखर सम्‍मेलन का मुख्‍य लक्ष्‍य कार्बन मुक्‍त और कार्बन तटस्‍थ विद्युत उत्‍पादन पर जोर देना था। स्‍वच्‍छ तथा कोयले के दक्ष उपयोग, ग्रनिंग ऑफ कोल, उत्‍सर्ग निस्‍सरण नियंत्रण, शून्‍य लिक्विड डिस्‍चार्ज तथा विद्युत उत्‍पादन प्रौद्योगिकियों पर विशेष सत्र रखे गए थे ताकि परम्‍परागत ईंधन स्रोता से स्‍वच्‍छ विद्युत उत्‍पादन पर ध्‍यान दिया दिया जा सके। शिखर सम्‍मेलन के दौरान नवीकरणीय ऊर्जा आपूर्ति की असतत प्रकृति की चुनौतियों का सामना करने के लिए नवीकरणीय ऊर्जा ग्रिड एकीकरण, ऊर्जा भंडारण और कुशल नियंत्रण के संबंधित मुद्दों पर चर्चा की गई।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति