मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी और नालको द्वारा विद्युत उत्‍पादन हेतु संयुक्‍त उद्यम का गठन

16th दिसम्बर, 2016

एनटीपीसी लिमिटेड और नेशनल एलुमीनियम कम्‍पनी लिमिटेड (नालको) ने आज नई दिल्‍ली में केन्द्रीय विद्युत, कोयला, नवीकरणीय ऊर्जा और खान राज्‍यमंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री पीयूष गोयल, पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्‍यमंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री धर्मेन्‍द्र प्रधान, ढेंकानाल से लोक सभा सांसद श्री तथागत सत्‍पथी, ओडिशा सरकार के श्रम, कर्मचारी राज्‍य बीमा, इस्‍पात एवं खान मंत्री श्री प्रफुल्‍ल कुमार मलिक, एनटीपीसी के सीएमडी श्री गुरदीप सिंह, नालको के सीएमडी डॉ. टी. के. चंद, एनटीपीसी के निदेशक (प्रचालन) श्री के.के. शर्मा तथा अन्‍य गणमान्‍य व्‍यक्तियों की उपस्थिति में एक सहमति ज्ञापन (एमओयू) पर हस्‍ताक्षर किए। एमओयू पर नालको के निदेशक (एचआर) श्री बी.के. ठाकुर तथा एनटीपीसी के निदेशक (वित्‍त) श्री के. बिश्वाल ने हस्‍ताक्षर किए। यह संयुक्‍त उद्यम कम्‍पनी ओडिशा में गजमारा, ढेंकानाल में एक 2400 मेगावाट (3x800 मेगावाट) की कोयला आधारित विद्युत परियोजना स्‍थापित करेगी और अंगुल स्थित नालको की विस्‍तार योजनाओं तथा ढेंकानाल, ओडिशा में कामाख्‍या नगर स्थित ग्रीनफील्‍ड परियोजना के लिए केप्टिव विद्युत की आपूर्ति करेगी। 

इस अवसर पर बोलते हुए श्री पीयूष गोयल ने कहा कि आने वाले दिनों में तेजी से प्रगति कर रही भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में स्‍वदेशी कम्‍पनियों द्वारा चलाई जा रही परियोजनाओं में एलुमीनियम की मांग कई गुना बढ़ने से मेक इन इंडिया पहल आगे बढ़ेगी और ओडिशा के लोगों के लिए नौकरियां और अवसर प्रदान करेगी। उन्‍होंने 90 प्रतिशत से अधिक पीएलएफ पर लगभग 50 वर्ष पुराने तालचेर थर्मल पावर स्‍टेशन के प्रचालन की एनटीपीसी की कायापलट क्षमता की प्रशंसा की। श्री गोयल ने कहा कि पर्यावरण अनुकूल विद्युत उत्‍पादन सरकार की प्राथमिकता है।

अपने संबोधन में श्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने कहा कि खनिजों की दृष्टि से समृद्ध ओडिशा अब राज्‍य में स्‍थापित किए जा रहे कई नए उद्योगों के कारण अपना हक प्राप्‍त कर रहा है। उन्‍होंने कहा कि नालको और एनटीपीसी यह संयुक्‍त उद्यम दो प्रतिष्ठित कम्‍पनियों के मध्‍य एक आदर्श अनुबंध है और ओडिशा में आधुनिकतम प्रौद्योगिकियां लाने वाले और उद्योग स्‍थापित करने की पैरवी की।

इस अवसर पर ढेंकानाल से लोक सभा सांसद श्री तथागत सत्‍पथी और ओडिशा सरकार के श्रम, कर्मचारी राज्‍य बीमा, इस्‍पात एवं खान मंत्री श्री प्रफुल्‍ल कुमार मलिक ने इस परियोजना को पूर्ण सहयोग प्रदान करने का आश्‍वासन दिया।

केन्‍द्रीय सार्वजनिक क्षेत्र की दो अग्रणी कम्‍पनियां सामान्‍य तौर पर भारत और ओडिशा राज्‍य की आर्थिक प्रगति को गति देने के लिए अपने संबंधित ज्ञानक्षेत्र में तालमेल कायम रख रही हैं। संयुक्‍त उद्यम समझौता, विद्युत क्रय समझौता इत्‍यादि पर तेजी से कार्य किया जाएगा और यह मौजूदा वित्‍तीय वर्ष के अंत तक साकार हो जाएगा। एनटीपीसी और नालको के मध्‍य संयुक्‍त उद्यम में दोनों कम्‍पनियों, जिनके पास सार्वजनिक इक्विटी – भारत सरकार की इक्विटी और सार्वजनिक तौर पर धारित इक्विटी दोनों है के लिए मूल्‍य सृजित करने की क्षमता है। नालको को आबंटित खदानों से कोयले को गजमारा स्थित संयुक्‍त उद्यम परियोजना से जोड़ा जाएगा। एलुमीनियम स्‍मेल्‍टर परियोजनाएं और विद्युत परियोजनाएं राज्‍य के लोगों के लिए मूर्त और अमूर्त लाभों के मार्ग का सृजन करते हुए क्षेत्र में औद्योगिक प्रगति के उत्‍प्रेरक के तौर पर कार्य करेंगी और इंजीनियरों, सुपरवाइजरों, कुशल, अर्द्ध-कुशल एवं अकुशल श्रमिकों के लिए प्रत्‍यक्ष एवं अप्रत्‍यक्ष रोजगार का सृजन करेंगी।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति