मीडिया

प्रेस विज्ञप्ति

एनटीपीसी ऊंचाहार धीरे-धीरे दुर्घटना से उबर रहा है...

06th नवम्बर, 2017

1 नवंबर 2017 को हुई औद्योगिक दुर्घटना से एनटीपीसी ऊंचाहार स्टेशन धीरे-धीरे उबर रहा है।  इस हादसे में अबतक 36 लोगों की मृत्यु हो गई है । बेहतर इलाज के लिए डॉक्टरों की सलाह पर 26 मरीज़ों को एयरलिफ़्ट करके दिल्ली के अस्पतालों में  पहुंचाया गया है ।  वर्तमान में, दिल्ली और लखनऊ के विभिन्न अस्पतालों में कुल 38 मरीजों का इलाज चल रहा है ।

एनटीपीसी द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं ताकि घायल/ पीड़ितों के लिए अच्छे से अच्छा इलाज उपलब्ध कराया जा सके । 38 मरीजों में से 21 मरीज, दिल्ली में तथा 17 मरीज़ लखनऊ में हैं । रायबरेली और लखनऊ से इलाज के बाद अस्पताल से कुल 6 मरीज़ों को छुट्टी मिल चुकी है । इन सभी मरीजों की सुचारू रूप से निगरानी के लिए दिल्ली में स्कोप में कंट्रोल रूम  एवं  एम्स, अपोलो,आरएमएल और सफदरगंज अस्पताल में सहायता केंद्र स्थापित किये गये है । इसी प्रकार लखनऊ में सिप्स, एसजीपीजीआई और सिविल अस्पताल  में भी सहायता केंद्र स्थापित किये गये हैं। केंद्र और राज्य सरकारों के स्तर से भी बचाव और राहत कार्यों में काफी सहयोग मिल रहा है । 

दिल्ली में भर्ती प्रत्येक रोगी की किसी भी आवश्यकता के लिए लिए एक-एक एनटीपीसी अधिकारी हमेशा उपलब्ध रह रहे हैं । एनटीपीसी के और भी अधिकारियों को ऊंचाहार, लखनऊ और दिल्ली में सहायता के लिए आकस्मिक रूप से बुलाया गया है । एनटीपीसी के अधिकारियों ने परिस्थितियों के सामान्य होने और पीड़ितों और उनके परिवारों को राहत प्रदान करने के लिए चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं । पीड़ित परिवारों को आर्थिक रूप से सहायता देने के लिए लगभग 23000 एनटीपीसी के कर्मचारियों ने एक दिन का वेतन देने का फैसला किया है जो कि लगभग 6 करोड़ रूपये होता है । यह राशि अन्य घोषित क्षतिपूर्ति के अतिरिक्त है। सभी एनटीपीसी कर्मचारियों और उनके परिवार के सदस्यों ने इस मुश्किल समय में अपनी अविश्वसनीय रूप से एकता प्रस्तुत की है ।

जैसा कि माननीय ऊर्जा राज्य मंत्री (प्रभारी ) श्री आर.के. सिंह के ऊंचाहार दौरे के दौरान घोषित मुआवजे की  राशि रू 20 लाख मृतक के आश्रितों , रू 10 लाख गंभीर रूप से घायलों  तथा रू 2 लाख की वित्तीय सहायता  सभी घायल श्रमिकों को प्रदान की जा रही है । एनटीपीसी द्वारा सभी प्रभावित व्यक्तियों/ आश्रितों को अनुगृह- राशि का वितरण कर दिया गया है ।

कंपनी के शीर्ष अधिकारियों की गठित एक विशेषज्ञ समिति ब्वायलर के इकोनोमाइज़र सेक्शन के फ़ाल्ट की जांच कर रही है जिसके परिणामस्वरूप फ़्लू गैसों का निस्कासन हुआ। यह एक असमान्य एवं दुर्लभ प्रकार का failure है । यह विशेषज्ञ समिति वरिष्ठतम कार्यकारी निदेशक श्री एस.के. रॉय के नेतृत्व तथा दो महाप्रबन्धकों के सहयोग द्वारा 30 दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट देगी ।

एनटीपीसी तथा उपकरण निर्माता भेल के विभिन्न विशेषज्ञ समितियां भी इस घटना के कारणों की जांच कर रही हैं ।

एनटीपीसी ऊंचाहार परियोजना की कुल उत्पादन क्षमता 1550 मेगावाट है जिसमें 210 मेगावाट की पाँच यूनिटें तथा 500 मेगावाट की एक यूनिट सम्मिलित है । 210 मेगावाट की सभी यूनिटें वर्तमान में प्रचालन में हैं जबकि पाँचवीं यूनिट नियोजित-ओवरहालिंग में है। 500 मेगावाट की यूनिट को शीघ्रतम चलाने का प्रयास किया जाएगा ।


« पीछे प्रेस विज्ञप्ति