हमारे साथ भावी संभावनाएं

प्रशिक्षण एवं विकास

एनटीपीसी इस धारणा में विश्वास करता है कि संगठन की दक्षता, कार्यकुशलता एवं सफलता मुख्यतः कर्मचारियों के कौशल, योग्यताएं एवं प्रतिबद्धताओं पर निर्भर करती है क्योंकि कर्मचारी ही संस्था की बहुमूल्य परिसंपत्ति होते है इसलिए कर्मचारियों के प्रशिक्षण एवं विकास पर बहुत ध्यान दिया जाता है । एनटीपीसी का कर्मचारी विकास से संबंधित दृष्टिकोण बहुत ही व्यापक है और जॉब संबंधित पहलुओं तक सीमित नहीं है ।

एनटीपीसी में प्रशिक्षण व्यक्तियों तथा संगठन के भावी विकास के लिए विभिन्न कार्य करने के लिए अपेक्षित कौशल का उन्नयन करने तथा विकास के अवसर उपलब्घ कराने के अल्पकालिक एवं दीर्धकालिक उद्देश्यों से दिया जाता है ।


प्रशिक्षण अवसंरचना

एनटीपीसी की प्रशिक्षण नीति में प्रतिवर्ष प्रति कर्मचारी न्यूनतम 7 दिनों के प्रशिक्षण पर जोर दिया गया है । हमारा दर्शन अपना स्वयं का प्रशिक्षण तंत्र विकसित करना है और यथासंभव कंपनी के भीतर ही प्रशिक्षण प्रदान करना है । इसीलिए एनटीपीसी ने अपनी निजी प्रशिक्षण सुविधाएं विकसित की हैं जिनमें निम्नलिखित शामिल हैः-

  • विद्युत प्रबंध संस्थान – यह एनटीपीसी का नौएडा स्थित शीर्षस्थ प्रशिक्षण संस्थान है जो कंपनी मुख्यालय के नजदीक स्थित है और जिसमें विश्वस्तरीय प्रशिक्षण सुविधाएं उपलब्ध है । इसमें दो आवासीय छात्रावास हैं जिनमें प्रत्येक कक्ष में इंटरनेट ब्रॉड बैंड की सुविधा हैं । पीएमआई में कई प्रशिक्षण एवं सम्मेलन कक्ष है जिनमें दृश्य एवं श्रव्य प्रशिक्षण उपकरण लगे हुए हैं । पीएमआई के ऑडिटोरियम में 300 व्यक्तियों के बैठने की क्षमता है और यह राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई सम्मेलनों का आयोजन कर चुका है ।

    पीएमआई में प्रतिभागियों के लिए इंडोर बैंडमिंटन कोर्ट, तरणताल, टैनिस कोर्ट और जिम हैं । इस संस्थान में पूर्णकालिक समर्पित प्रशिक्षण संकाय है और यह एनटीपीसी के लिए तथा अन्य कंपनियों के लिए भी प्रशिक्षण एवं सम्मेलनों का आयोजन करता है ।

  • कर्मचारी विकास केंद्र - केंद्रीय विकास केंद्र एन.टी.पी.सी की सभी परियोजनाओं एवं स्टेशनों में स्थित है और यूनिट में कार्यरत कर्मचारियों की प्रशिक्षण संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करते हैं । इन केंद्रों में विद्युत प्रबंध संस्थान जैसी ही अवसंरचनात्मक सुविधाएं हैं और समूचे एन.टी.पी.सी के 150 कर्मचारियों का पूर्णकालिक समर्पित स्टाफ है । कर्मचारी विकास केंद्र ऐसे प्रशिक्षण आवश्यकताओं को पूरा करने का काम करते हैं जिन्हें स्थानीय आधार पर पूरा किया जा सकता है ।

  • सिम्युलेटर केंद्र - एन.टी.पी.सी को इस बात का गर्व है कि उसके पास कोयला आधारित एवं गैस आधारित दोनों प्रकार के संयंत्रों के लिए दो सिम्युलेटर प्रशिक्षण केंद्र हैं जो देश में अपने प्रकार के एक मात्र केंद्र है । हमारा गैस आधारित सिम्युलेटर केंद्र कवास (गुजरात) में स्थित है जबकि कोयला आधारित सिम्युलेटर केंद्र कोरबा में है । ये सिम्युलेटर केंद्र हमारे इंजीनियरों को विद्युत संयंत्र के प्रचालन के अनुभव में सहायक हैं । एन.टी.पी.सी यह सुविधा विद्युत उद्योग के कई अन्य संगठनों या उपस्कर विनिर्माता को भी यह सुविधा प्रदान करता है । वे अपने कर्मचारी प्रशिक्षण के लिए हमारे सिम्युलेटर केंद्रों पर भेजते हैं ।


नियोजित योजनाएं

प्रबंध विकास के लिए एन.टी.पी.सी कर्मचारियों के कैरियर में प्रत्येक चरण के लिए तैयार की गई नियोजित योजनाएं भी हैं । इनमें से प्रत्येक परम्परागत मध्यकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम है जो विशेष रूप से कर्मचारियों के कैरियर में किसी अवस्था विशेष में विकासात्मक प्रशिक्षण देने के लिए तैयार किए गए हों ।


शिक्षा उन्नयन स्कीम

कर्मचारियों की शैक्षिक आकांक्षाओं को पूरा करने और उन्हें संगठन की आवश्यकताओं के अनुकूल बनाने के लिए एन.टी.पी.सी ने प्रतिष्ठित संस्थाओं जैसे आई.डी.आई, गुड़गांव ; आई.आई.टी, दिल्ली ; बीआईटीएस, प्लानिंग आदि के साथ समझौते किए हैं । एन.टी.पी.सी ऐसे कर्मचारियों के निर्धारित समूहों को इन संस्थाओं में भेजता है जो कंपनी में उनके निष्पादन मूल्यांकन के आधार पर और इन संस्थाओं द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षाओं में उनके निष्पादन के आधार पर इन पाठय़क्रमों के लिए भेजे जाते हैं । अन्य प्रकार की अध्ययन छुट्टियां आदि के विपरीत इन पाठय़क्रमों में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले कर्मचारियों को पाठय़क्रम की अवधि में अपना पूरा वेतन मिलता है या कैरियर में संवृद्धि होती है ।