हमारे विषय में

अधिग्रहण

अधिग्रहण के माध्यम से व्यवसाय विकास से एनटीपीसी के अपने स्वयं के वाणिज्यिक हित के साथ साथ भारतीय अर्थव्यवस्था के हित की भी पूर्ति होती है ।

अधिग्रहण प्रक्रिया के भाग के रूप में अधिप्राप्ति करना एनटीपीसी के लिए अति निम्ना गेस्टे्शन अवधि में अपनी विद्युत उत्पा्दन क्षमता में संवर्धन करने हेतु एक अवसर भी है । विगत वर्षों में, एनटीपीसी ने अन्य विद्युत कंपनियों / राज्य बिजली बोर्डों के स्वामित्व से निम्न तीन विद्युत केंद्रों का अधिग्रहण किया है तथा अपने कॉर्पोरेट सामर्थ्य का प्रयोग करते हुए उनमें से प्रत्येक का क्रमावर्तन कर दिया है:-

अधिग्रहण किए गए थर्मल पावर स्टेशनवर्षमूल स्वामी
2X210 मेगावॉट फिरोज़ गांधी ऊंचाहार थर्मल पावर स्टेशन1991उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम लि.
4X60 मेगावॉट +2X110 मेगावॉट तलचर थर्मल पावर स्टेशन1995ड़ीसा राज्य विद्युत बोर्ड
4X110 मेगावॉट टांडा थर्मल पावर स्टेशन2000उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम लि.
705 मेगावॉट बदरपुर थर्मल पावर स्टेशन केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण2006केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण